-->

Breaking News

उपज का वाजिब मूल्य दिलाने मे मददगार है भावांतर भुगतान योजना, अंतर की राशि पाकर खुश हुये किसान


सतना  : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा किसानो के हित में प्रारंभ की गई अति महत्वाकांक्षी भावांतर भुगतान योजना किसानो को उनकी उपज का ना केवल वाजिब मूल्य दिला रही है बल्कि किसानो की खून पसीने और मेहनत से उगाई फसल के श्रम का सम्मान कर उन्हे संतुष्टि भी प्रदान कर रही है। भावांतर योजना मे सतना जिले की मण्डियो मे अपनी खरीफ की सोयाबीन तिल और उडद लाकर बेचने वाले 410 किसानो के खातो मे 61 लाख 10 हजार 889 रूपये की राशि भाव अंतर के रूप मे पहुँच चुकी है। मण्डी मे अपेक्षाकृत कम मूल्य मे अपनी फसल बेचने वाले किसान अंतर की राशि पाकर संतुष्ट नजर आये। वे प्रदेश के मुख्यमंत्री को किसानो के हित मे अभिनव योजना शुरू करने के लिये साधुवाद भी दे रहे है।

कृषि उपज मण्डी सतना मे भावांतर योजना के प्रारंभ होने वाले दिन 16 अक्टूबर को पोईधाकला के किसान जगदीश चौधरी ने 16 क्विंटल सोयाबीन 2500 रूपये क्विंटल के भाव से बेची। इसी प्रकार पोईधाकला के मुकेश अग्रवाल ने 12.60 क्विंटल सोयाबीन इसी भाव पर बेची और उन्हे तत्काल 25 हजार 200 रूपये कीमत मिल गई। इसके बाद भावांतर योजना के तहत समर्थन मूल्य और औसत मॉडल मूल्य के अंतर की राशि भी उनके खाते मे पहुँच गई। संत टोला जैतवारा के दीपेन्द्र त्रिपाठी बताते है कि उन्होने सतना मण्डी मे 2276 रूपये प्रति क्विंटल के मान से 15.87 क्विंटल सोयाबीन बेचने पर 36 हजार 120 रूपये व्यापारियो से तत्काल मिल गया था और एक महीने बाद उनके खाते मे अंतर की राशि भी पहुँच गई। अब उन्हे विपरीत परिस्थितियो मे कम भाव पर अपनी उपज बेचने का जरा भी मलाल नही है। मुख्यमंत्री जी की भावांतर योजना ने शेष कमी पूरी कर दी है। इसी प्रकार सतना मण्डी मे अपनी उडद की उपज बेचने आये जमोडी के बेटू सिंह ने 4.14 क्विंटल उडद बिहटा के रावेन्द्र सिंह ने 4.26 क्विंटल उडद 2099 रूपये प्रति क्विंटल के भाव से बेची। जिसका तत्काल भुगतान तो मिला ही एक महीने बाद उनके खाते मे भावांतर की राशि भी आ गई। इटमा कोठार के किसान रामकरण पटेल का कहना है कि कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन द्वारा विगत दिवस सतना मण्डी के निरीक्षण मे अपने सामने डाक कराने का असर भी हुआ और डाक बोली के रेट भी 2899 से 3100 तक हो गये। उन्होने एक क्विंटल 93 किलो उडद 2899 रूपये के भाव से 5595 रूपये मे बेंची। इसके अलावा भावांतर की राशि भी उनके खाते मे आ गई है।

कृषि मण्डी के सचिव स्वामीदीन वर्मा ने बताया कि सतना जिले में 16 से 31 अक्टूबर तक भावांतर योजना मे पंजीकृत 410 किसानो द्वारा मण्डी मे बेची गई सोयाबीन उडद की उपज के भावांतर की राशि 61 लाख 10 हजार 889 रूपये संबंधित किसानो के खाते मे जमा करा दी गई है। जिनमें सतना मण्डी के 215 किसानो को 26 लाख 28 हजार 565 रूपये, नागौद के 186 किसानो को 3 लाख 33 हजार 355 रूपये, अमरपाटन के 6 किसानो को 1 लाख 35 हजार 852, मैहर के 2 किसानो को 11 हजार 621 और रामनगर के एक किसान को 3300 रूपये की भावांतर राशि उनके खाते मे जमा करा दी गई है। राज्य शासन द्वारा 16 से 31 अक्टूबर तक अपनी फसल बेचने वाले पंजीकृत किसानो के लिये 61 लाख 11 हजार 271 रूपये की राशि जिले को दी गई थी। अब अगले चरण मे 1 नवम्बर के बाद अपनी उपज बेचने वाले पंजीकृत किसानो को भी राशि प्राप्त होते ही खाते मे जमा कराई जायेगी।

भावांतर की राशि अपने खातो मे पाने वाले कृषको ने कहा कि भावांतर योजना लागू हो जाने से किसानो को उनकी उपज का सही मूल्य मिलने लगा है। अब वह व्यापारियो के हाथो अपनी उपज सस्ते मे देने को तैयार नही है। वह मण्डी मे ही लाकर बेचना चाहता है। सभी किसान संतुष्ट है कि उन्हे अंतर की राशि मिलने से लागत और श्रम का सही और उचित मूल्य मिल रहा है। भावांतर योजना के तहत रामनगर के शिवेन्द्र सिंह को 3300 रूपये, मैहर के सुरेश पटेल को 10 हजार 32, अमरपाटन के राजकुमार पटेल को 8 हजार 219, रामस्वरूप को 21 हजार 555, रामदेव पटेल को 27 हजार 960, नागौद के कमलभान शुक्ला को 40 हजार 320, विष्णु द्विवेदी को 44 हजार 472 और सतना मण्डी के शियासरण कोल को 59 हजार 448 रूपये खाते मे भांवातर की राशि के रूप मे पहुँचे है। भावांतर योजना से अपनी उपज का सही मूल्य पाकर किसान खुशहाल हुये है।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com