-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

6 दिवसीय 'सोमयज्ञ' का शुभारंभ, सीएम बोले-यज्ञ से इस बार अच्छी होगी बारिश



भोपाल। सोमयज्ञ का लाभ प्रदेश की जनता को मिलेगा। पिछले साल वर्षा में कमी रह गई और इसलिए सूखे के संकट का सामना प्रदेश को करना पड़ा।वर्षा काफी कम होने के कारण हमारी जीवन रेखा नर्मदा मैया में भी पानी की कमी हुई है। सहायक नदियां भी संकट से जूझ रही हैं। मुझे लगता है कि यज्ञ के कारण ईश्वर की सुदृष्टि होगी, जिससे अच्छी वर्षा होगी।  उक्त बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज राजधानी भोपाल के टीटी नगर स्थित दशहरा मैदान में सोमयज्ञ समारोह के शुभारम्भ अवसर पर  कही।

दरअसल, प्रदेश में कई सालों से वर्षों अच्छी ना होने के कारण किसानों की फसलों का नुकसान हुआ है, वही प्रदेश के कई इलाकों में सुखे जैसे हालात बने हुए है, नदियों-तालाबों का जलस्तर लगातार गिर रहा है। सरकार की पहल है कि इस यज्ञ से ईश्वर प्रभावित और प्रसन्न होंगे और प्रदेश में अच्छी वर्षा होगी। यह यज्ञ आज से छह दिनों तक चलेगा। यज्ञ स्थल पर हवन के लिए 10 वेदियों का निर्माण किया गया है।यज्ञ में प्रतिदिन 80 जोड़े जनकल्याणार्थ आहुतियां देंगे। आज पहले दिन मुख्यमंत्री शिवराज इस महोत्सव मे शामिल होने पहुंचे। यहां उन्होंने पहले पूजा-अर्चना कर इसकी शुरुआत की ।सोमयज्ञ समारोह में आयोजित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि यज्ञ में मंत्रो का जिस तरह से उच्चारण होता है वो पूरी तरह से साइंटिफिक है। पिछले साल वर्षा कम हुई थी नदियों में पानी कम है मुझे लगता है यज्ञ से वर्षा अच्छी होगी।पानी पर्याप्त होगा तो सभी समस्याओं का समाधान होगा।

गौरतलब है कि सोमयज्ञ अश्वमेघ और राज सूर्य यज्ञ से भी अधिक प्रभावशाली होता है । यह यज्ञ सृष्टि के पालनकर्ता भगवान विष्णु और शांति व शीतलता प्रदान करने वाले चंद्रदेव के निमित्त किया जाता है। इस यज्ञ में सोम नामक एक दुर्लभ वनस्पति (लता) का उपयोग होता है। यह यज्ञ पर्यावरण की शुद्धि में तो कारगर है ही, इसके करने से राज्य में खुशहाली, सुख व समृद्धि भी आती है। दूसरे मायनों में यह परमात्मा द्वारा दिए गए जीवन के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने का माध्यम भी है। यज्ञ के पूर्व सोम कलश की स्थापना होती है। इस यज्ञ में दी गई एक आहुति 10008 आहुतियों के बराबर होती है।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com