-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

युवा वर्ग ने भरी हुंकार, बोले- समाज के कार्यक्रम में करेंगे आरक्षण समर्थक नेताओं का विरोध



शोसल मिडिया में कुछ समय से यह मैसेज वायरल हो रहा है की अब किसी भी जातिगत आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करती है और स्टेज पर उन्हें फूल माला से नवाजती है , अभिनंदन करती है, तो वे उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूँगा एवं उस नेता को sc st एट्रोसिटी  एक्ट और जातिगत आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।

कई युवाओं द्वारा इस तरह के मैसेज फेसबुक, ट्विटर एवं व्हाट्सप्प में वायरल किये जा रहे है।  जिसमे ब्राह्मण समाज के युवा, क्षत्रीय समाज के युवा,  स्वर्णकार समाज एवं कई अनारक्षित वर्ग के युवाओ ने ये हुंकार अब समाज में भरी है।


सबसे पहले अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की क्षात्र विंग मध्य प्रदेश ने आज शपथ ली कि आज से अब आगे अगर राजपूत समाज किसी भी आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करती है, स्टेज पर उन्हें फूल माला से नवाजती है तो में उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूँगा एवं उस नेता को आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।
जो समाज के युवाओ के हित की बात करेगा
वो ही समाज पर राज करेगा
अब आगे आपकी बारी कसम खाने की, क्या अपने आने बाली पीढ़ी के लिए आप ऐसा करेंगे???
क्षात्र विंग के प्रदेश अध्यक्ष  चेतन सिंह चन्देल के नेतृत्व में यह सार्वजनिक सपथ ग्रहण समारोह भोपाल में हुआ है।


मै अभिषेक सोनी आज से कसम खाता हूं कि
यदि स्वर्णकार समाज किसी भी sc st एट्रोसिटी एक्ट (काला क़ानून)  समर्थक नेता एवं जातिगत आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करती है और स्टेज पर उन्हें फूल माला से नवाजती है , अभिनंदन करती है, तो में उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूँगा एवं उस नेता को sc st एट्रोसिटी  एक्ट और जातिगत आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।

जो समाज के युवाओ के हित की बात करेगा समानता और समरसता की बात करेगा।

वो ही देश  पर राज करेगा

अब आगे आपकी बारी संकल्प लेने की, क्या अपने अधिकारों और  आने बाली पीढ़ी के भविष्य के लिए आप ऐसा करेंगे??? 


 मै Deepak pandey आज से कसम खाता हूं कि
यदि सवर्ण समाज किसी भी sc st एट्रोसिटी एक्ट (काला क़ानून)  समर्थक नेता एवं DXजातिगत आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करता है और स्टेज पर उन्हें फूल माला से नवाजता है , अभिनंदन करता है, तो में उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूँगा एवं उस नेता को sc st एट्रोसिटी  एक्ट और जातिगत आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।

जो समाज के युवाओ के हित की बात करेगा समानता और समरसता की बात करेगा।

वो ही देश  पर राज करेगा

अब आगे आपकी बारी संकल्प लेने की, क्या अपने अधिकारों और  आने बाली पीढ़ी के भविष्य के लिए आप ऐसा करेंगे???


मै शैलेन्द्र तिवारी आज से कसम खाता हूं कि
अगर ब्राम्हण समाज किसी भी आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करती है, स्टेज पर उन्हें फूल माला से नवाजती है तो में उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूँगा एवं उस नेता को आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।
जो समाज के युवाओ के हित की बात करेगा
वो ही समाज पर राज करेगा
अब आगे आपकी बारी कसम खाने की, क्या अपने आने बाली पीढ़ी के लिए आप ऐसा करेंगे???


मै देवेंद्र मिश्रा रीवा म.प्र.जातिगत आरक्षण का समर्थन करने बाले सभी का विरोध करता हू और करूगा। वे सभी मित्र बधाई के पात्र है जिन्होंने देश के युवाओ को नई दिशा दी.

मै संजीव शुक्ला आज से कसम खाता हूं कि
अगर कोई भी समाज किसी भी जातिगत आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करती है, स्टेज पर उन्हें फूल माला से नवाजती है तो में उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूँगा एवं उस नेता को जातिगत आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।
जो समाज के युवाओ के हित की बात करेगा
वो ही समाज पर राज करेगा
अब आगे आपकी बारी कसम खाने की, क्या अपने आने बाली पीढ़ी के लिए आप ऐसा करेंगे???


मैं वीरेंद्र रावत रिझारी आज से कसम खाता हूं कि
 अगर मेरा समाज किसी भी जातिगत आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करती है स्टेज पर फूल माला से नवाजती है तो मैं उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूंगा एवं उस नेता को जातिगत आरक्षण विरोधी की तक्तियां भी दिखाऊंगा
 जो समाज के युवाओं के हित की बात करेगा वही समाज पर राज करेगा
 आप आगे आपकी बारी कसम खाने की क्या आपने आने वाली पीढ़ी के लिए आप ऐसा करेंगे
???

मै ashish Bhargavava आज से कसम खाता हूं कि
अगर mera समाज किसी भी जातिगत आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करती है, स्टेज पर उन्हें फूल माला से नवाजती है तो में उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूँगा एवं उस नेता को जातिगत आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।
जो समाज के युवाओ के हित की बात करेगा
वो ही समाज पर राज करेगा
अब आगे आपकी बारी कसम खाने की, क्या अपने आने बाली पीढ़ी के लिए आप ऐसा करेंगे???


 मै कु. प्रसंग सिंह परिहार आज से कसम खाता हूं कि
अगर राजपूत समाज किसी भी आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करती है, स्टेज पर उन्हें फूल माला से नवाजती है तो में उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूँगा एवं उस नेता को आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।
जो समाज के युवाओ के हित की बात करेगा
वो ही समाज पर राज करेगा
अब आगे आपकी बारी कसम खाने की, क्या अपने आने बाली पीढ़ी के लिए आप ऐसा करेंगे???


मै दीपक पाठक आज से कसम खाता हूं कि
यदि क्षत्रिय समाज किसी भी sc st एट्रोसिटी एक्ट(काला क़ानून) एवं जातिगत आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करता है और मंच पर उन्हें फूल माला से स्वागत,अभिनंदन करता है, तो मै उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूंगा और उस नेता को sc st एट्रोसिटी  एक्ट और जातिगत आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।

जो समाज के युवाओं के हित की बात करेगा समानता और समरसता की बात करेगा।

वो ही देश  पर राज करेगा

अब आगे आपकी बारी संकल्प लेने की, क्या अपने अधिकारों और  आने वाली पीढ़ी के भविष्य के लिए आप ऐसा करेंगे???
 


मै इं देवेन्द्र सिंह आज से कसम खाता हूं कि
यदि क्षत्रिय समाज किसी भी sc st एट्रोसिटी एक्ट(काला क़ानून) एवं जातिगत आरक्षण समर्थक नेता को सामाजिक कार्यक्रम में आमंत्रित करता है और मंच पर उन्हें फूल माला से स्वागत,अभिनंदन करता है, तो मै उस कार्यक्रम का बहिष्कार करूंगा और उस नेता को sc st एट्रोसिटी  एक्ट और जातिगत आरक्षण विरोध की तख्तियां भी दिखाऊंगा।

जो समाज के युवाओं के हित की बात करेगा समानता और समरसता की बात करेगा।

वो ही देश  पर राज करेगा

अब आगे आपकी बारी संकल्प लेने की, क्या अपने अधिकारों और  आने वाली पीढ़ी के भविष्य के लिए आप ऐसा करेंगे???


ऐसे ही कई युवा इस मुहीम से जुड़ रहे है और मैसेज वायरल होने का सिलसिला जारी है। 

 

1 comment:

  1. मैं प्रभाकर सिंह चौहान ईश्वर को साक्षी मानकर शपथ लेता हूं कि जो भी नेता जातिगत आरक्षण का समर्थन करते हैं तथा एट्रोसिटी एक्ट अरशद काला कानून का विरोध नहीं करते हैं मैं उनके किसी भी कार्यक्रम का बहिष्कार करूंगा

    ReplyDelete

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com