-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

स्वस्थ रहने का भारतीय तरीका है योग



ग्वालियर : वयस्कों और बच्चों दोनों को ही योग से फायदा होता है लेकिन बच्चे बड़ों से ज्यादा कोमल होते हैं। अगर बच्चों को बचपन से ही योग की आदत डाल दी जाए तो यह हमेशा के लिए ही उनके शरीर को  स्वस्थ रखने का भारतीय  तरीका  है । उपरोक्त उदगार योगाचार्य दिनेश चाकणकर ने शासकीय कन्या उमावि कन्या शिंदे की छावनी में आयोजित समर कैंप में कहे। इससे पूर्व श्री चाकणकर  एवं पूर्णिमा कुशवाह ने बच्चो को कॉमन योगा प्रोटोकॉल का अभ्यास कराया।

श्री चाकणकर  ने कहा की बढ़ते हुए बच्चों के लिए मूवमेंट बहुत जरूरी है और योग उनके शरीर और दिमाग दोनों के विकास के लिए जांचा-परखा उपाय है। अधिकतर योगासनों की उत्पत्ति  प्रकृति से ही हुई है जबकि उनमें से कुछ शेर, बिल्ली और कुत्ते जैसे पशुओं की नकल करते प्रतीत होते हैं। कुछ योगासन पर्यावरण के कुछ जैसे पहाड़, पेड़, सूर्य इत्यादि हिस्सों को भी प्रदर्शित करते हैं ताकि उनके प्राकृतिक गुणों को समाहित कर सकें।

श्री चाकणकर  कहा कि म प्र शासन द्वारा शालेय विद्यार्थयों में सर्वांगीण विकास हेतु चलाये जा रहे समर कैंप का निर्णय मील का पत्थर साबित होंगे । क्योंकि  इस शिविर की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि  बच्चे अनुपयोगी सामग्री से उपयोगी सामग्री बनाना और नृत्य चित्रकला आदि विधाओं में पारंगत होने के साथ सातह साथ पर्यावरण  और जल संरक्षण तथा साफ सफाई के प्रति जागरूक हो रहे है,यहाँ तक की रोजाना योगाभ्यास के पूर्व प्रांगण की सफाई भी वे प्रशिक्षकों के साथ ही कर रहे है, साथ ही २१ जून को विश्व योग  दिवस के लिए नवोदित प्रशिक्षक भी तैयार हो रहे हैं।  समर कैंप में जनशिक्षक श्रीमती अर्चना दीक्षित , खेल प्रशिक्षक संतोष वर्मा , श्रीमती रेखा श्रीवास्तव और ग्रामीक्षा का भी सराहनीय सहयोग मिल रहा है

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com