-->

Breaking News

जवा तहसील मे छाया पानी का घोर जल संकट



राहुल तिवारी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ संवाददाता
 
विकराल समस्या से जनता हूई हालाकान
जनप्रतिनिध भूले ग्रामीण क्षेत्रो का रास्ता
शासन - प्रशासन के पास नही है पर्याप्त पानी उपलब्ध कराने का साधन..तरुणेन्द


रीवा :- जवा से बडी खबर
रीवा जिले के जवा तहसील मे इस समय पानी का हाहाकार मचा हुआ है ,
तहसील के कई गाँवो मे जल  संकट का घोर आलम छाया हुआ  है ,
गर्मी की शुरूआत होते ही क्षेत्रो मे जल स्तर नीचे खिसक जाने से हैंडपंप धूल उगल रहे है , जिससे पानी का संकट बढ गया है ,

जानकारी के अनुसार ..
जवा तहसील के गाँवो मे कई महीनो से पानी कि किल्लत बनी हूई है , ग्रामीण इलाकों मे स्थित हैंड पंप जो बंद पडे हुए है , वही कुछ शासकीय हैंडपंपो मे रशूखदारो ने कब्जा जमाकर रखा है , जिससे जनता को पानी मुहैया नही हो पा रहा है ,
जहॉं कही भी हैंडपंप चल भी रहे है , वहा पानी के लिए जद्दोजहद मची हूई है ,
जनता पानी के लिए इधर से ऊधर भटकने को मजबूर है , महिलाये व पुरूष जो सायकलो मे डिब्बा फॉंसकर दूर दराज से पीने के लिए पानी ढोने के लिए मजबूर है ,
जवा के ग्राम रतनी,निमगहना,किरहाई,लूक,
डभौरा सहित दर्जनों ऐसे गांव है जहाँ घोर जल संकट की स्थिति बनी हूई है।
जिससे वहा पानी भरने के लिए आये दिन बिवाद की स्थिति भी बनी रहती है , जहॉं कही हैंडपंप चल भी रहे वहा जनता डिब्बा लेकर इक्ठ्ठा हो जाती है , जिससे वहॉ बडी समस्या उत्पन्न हो जाती है, और 1-2 डिब्बे पानी के लिए हैंडपंप के पास कई घंटो तक इंतजार करना पडता है , तब जाके कही पानी मिल पाता है , और उतने मे ही काम चलाना पड रहा है ,
वही पानी की किल्लत होने से पशु , पछी , जानवर सब त्रस्त है।
किसान कांग्रेस नेता तरुणेंद्र द्विवेदी ने कहा कि सत्ता पक्ष के सांसद,विधायक मौन धारण किये हुए है और पी एच ई विभाग के अधिकारियों को क्या कहना उन्हें तो नेताओ का संरक्षण प्राप्त है फिर भला जनता के दर्द का ध्यान कहाँ।।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com