-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

अगर बैंक में आपको कोई जरूरी काम है तो जल्द ही निपटा लें क्योंकि...



भोपाल : अगर बैंक में आपको कोई जरूरी काम है तो जल्द ही निपटा लें, क्यूंकि माह के अंत में दो दिनों तक बैंक में कोई कामकाज नहीं होगा| ऐसा इसलिए क्यूंकि देशभर के 10 लाख से ज्यादा बैंककर्मी हड़ताल पर रहेंगे। ये लोग इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) की ओर से वेतन में सिर्फ 2% बढ़ोतरी का विरोध कर रहे हैं। बता दें कि 5 मई को इस मुद्दे पर हुई बैठक में आईबीए ने ये प्रस्ताव दिया था। कर्मचारियों का कहना है कि वेतन में 2% इजाफा कोई मायने नहीं रखता। हड़ताल का आव्हान यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने किया है जो देश के करीब 10 लाख बैंक कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व करता है। हड़ताल के पूर्व बैंक कर्मचारियों ने न्यू मार्केट स्थित देना बैंक के सामने समर्थन जुटाने के लिए प्रदर्शन किया।

फोरम की ओर से कर्मचारी नेता वीके शर्मा ने बताया कि 'सम्मानजनक वेतन समझौता शीघ्र करो की मांग को लेकर दो दिवसीय राष्ट्रव्यापी बैंक हड़ताल रहेगी। इस दौरान बैंक कर्मचारी अलग-अलग स्थानों पर धरना-प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपेंगे। 30 एवं 31 मई को बैंकों की हड़ताल होने से बैंकों में लेन-देन ठप रहेगा। इससे एटीएम में नोट लोड नहीं होंगे और लोगों को रुपए के लिए परेशान होना पड़ेगा। इसके बाद ही सैलरी डे होने से एटीएम में परेशानी और बनी रहेगी।  देश भर में कॅश की किल्लत हो सकती है।

वेतन वृद्धि को लेकर पांच मई 2018 को हुई बैठक में आईबीए ने दो फीसदी बढ़त की पेशकश की| बैठक में यह भी कहा गया कि अधिकारियों की मांग पर बातचीत केवल स्केल तीन तक के अधिकारियों तक सीमित होगी| यूनाइटेड फोरम और बैंक यूनियन्स के संयोजक देवीदास तुलजापुरकर ने कहा, ‘यह एनपीए के एवज में किये गये प्रावधान के कारण है जिससे बैंकों को नुकसान हुआ और इसके लिये कोई बैंक कर्मचारी जिम्मेदार नहीं है।

बैंक कर्मचारियों के पिछली वेतन समीक्षा में 15 प्रतिशत का इजाफा किया गया था. यह वेतन समीक्षा 1 नवंबर 2012 से 31 अक्टूबर 2017 के लिये था. यूएफबीयू 9 श्रमिक संगठनों का निकाय है. इसमें ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कान्फेडरेशन (एआईबीओसी), ऑल इंडिया बैंक एम्प्लायज एसोसिएशन (एआईबीईए) तथा नेशनल आर्गेनाइजेश ऑफ बैंक वर्कर्स (एनओबीडब्ल्यू) शामिल हैं।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com