-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

चिरमिरी-रीवा ट्रेन हादसे की बड़ी वजह आयी सामने, लापरवाही जानकर उड़ जाएंगे होश



रीवा : चिरमिरी-रीवा फास्ट पैसेंजर को तुर्की स्टेशन से गेटमैन को फाटक बंद करने का सिग्नल मिला था। इसका उल्लेख गेटमैन के डायरी में है, बावजूद रेलवे फाटक बंद नहीं था। परिणाम स्वरूप रेलवे क्रासिंग कर रहे ट्रक से ट्रेन टकरा गई। प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आते ही देश में रेल यात्रियों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं।

मामले में गेटमैन पुष्पेन्द्र तिवारी को निलबिंत कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त अन्य अधिकारियों की भूमिका पर भी जांच की जा रही है। मानवयुक्त इस रेलवे फाटक में हुई इस घटना ने रेलवे सुरक्षा पर बड़ा सवाल कर दिया है। इस मामले की जानकारी रेलवे मंत्रालय ने तत्काल तलब की है। इससे हडक़ंप मच गया है। बताया जा रहा है कि तीन दिन के अंदर घटना की पूरी रिपोर्ट मांगी गई है। इस हादसे की जांच के लिए पीइडब्लयू, सहित चार सदस्यीय टीम गठित की गई है। टीम सात दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट डीआरएम को सौंपेगी। इसके लिए रविवार से टीम ने जांच शुरू कर दी है।सबसे पहले तुर्की स्टेशन में अभिलेखों का निरीक्षण किया गया।

ट्रेन के दोनों पायलट घायल
मालूम हो, चिरमिरी-रीवा ट्रेन रविवार तडक़े 4.30 बजे चोरहटा के नौवस्ता पहुंची। ट्रेन आगे बढकऱ जैसे ही रेलवे क्रासिंग के पास पहुंची रेलवे टै्रक पार कर रहा गिट्टी से लोड ट्रक (यूपी 62 एटी 9767) टकरा गया। बताया गया कि फाटक खुला था, इसी दौरान ट्रेन आ गई और ट्रक के पिछले हिस्से से जोरदार टक्कर हो गई। इससे ट्रक बीच से टूट गया और ट्रेन का इंजन भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। हादसे में टे्रन के पायलट संजय श्रीवास्तव व सह पायलट निर्भय यादव गंभीर रूप से घायल हो गए। तडक़े हुई घटना से नौवस्ता क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया। सूचना पर पुलिस बल मौके पर पहुंचा और इंजन के अंदर फंसे पायलटों को बाहर निकालकर संजय गांधी अस्पताल लाया गया। तडक़े सतना से मेडिकल सैलून भी मौके पर पहुंची जिसमें मौजूद रेसक्यू दस्ते ने तत्काल राहत और बचाव कार्य शुरू किया।

दो दिन बाद भी गेटमैन लापता
चिरमिरी ट्रेन हादसा के बाद गेटमैन पुष्पेन्द्र तिवारी लापता है। आरपीएफ ने दूसरे दिन भी उनकी तलाश की लेकिन अभी तक वह अधिकारियों के सामने प्रस्तुत नहीं हुए है। गेटमैन के बयान दर्ज नहीं होने से जांच आगे नहीं बढ़ पा रही।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com