-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

'कांग्रेस वोटों की फसल काट रही' शिवराज के बयान पर कमलनाथ का पलटवार



भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज द्वारा 'कांग्रेस वोटों की फसल काट रही' वाले बयान को लेकर अब राजनैतिक हमले शुरु हो गए है।कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ ने शिवराज के इस बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने ट्वीटर के माध्यम से शिवराज पर जमकर हमला बोला है। कमलनाथ ने एक के एक तीन ट्वीट किए है। इसके साथ ही कमलनाथ ने किसानों का भी आभार माना है।

दरअसल, एक तरफ बुधवार को मंदसौर गोलीकांड की पहली बरसी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मंदसौर किसानों से मिलने पहुंचे थे और भाजपा पर जमकर हमला बोला था। वही दूसरी तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राजगढ़ जन कल्याण संबल योजना के अंतर्गत असंगठित श्रमिक तेंदूपत्ता संग्राहक मिलन एवं अंत्योदय मेले में शामिल होने पहुंचे थे जहां उन्होंने मंदसौर में राहुल गांधी की सभा को लेकर जमकर हमला बोला। सीएम ने मंच से कहा कि कांग्रेस सभा कर रही है, रैली कर रही है, कांग्रेस पूरे मध्यप्रदेश में हिंसा फैलाना चाहती है, आग में मध्य प्रदेश को झोंकना चाहती है। कांग्रेस चाहती है कि किसी भी हालत में कहीं ना कहीं कोई गड़बड़ हो जाए ,भारतीय जनता पार्टी कटघरे में खड़ी हो जाए और उसके बाद हम वोटों की फसल काट लें , यह षड्यंत्र कांग्रेस कर रही है।

इस बयान को लेकर कमलनाथ ने शिवराज पर पलटवार किया है। उन्होंने पहले ट्वीट में लिखा है कि शिवराज सरकार के तमाम अवरोधों व ख़ूनखराबा की आशंका के झूठ को धता बता ,कल मंदसौर की पीपलियामंडी में “ किसान समृद्धि संकल्प सभा “ को ऐतिहासिक बनाने के लिये सभी किसान भाइयों का व कांग्रेसजनो का आभार...


उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि शिवराज जी ना हम घड़ियाली आँसू बहाने और ना वोट की फसल काटने मंदसौर गये थे। हम तो वहाँ किसानो के आँसू पोछनें गए , जो आपकी सरकार ने दिये है और आपके द्वारा पिछले 14 वर्ष से बोयी जा रही झूठ की फ़सल काटने गये थे।


वही उन्होंने अपने तीसरे ट्वीट में लिखा है कि किसानों की आत्महत्या के आँकड़े को लेकर भ्रम फैलाने वाले जान ले कि पिछले वर्ष 896 किसानो ने आत्महत्या की, MP किसानो की आत्महत्या के मामले में देश में नं. 3 पर। वही पिछले 5 वर्षों में 21% की वृद्धि के साथ करीब 5500किसानो ने व 15 वर्षों में 16000 किसानो ने आत्महत्याएँ की।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com