-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

वर्ल्ड बैंक ने पाकिस्तान से कहा- भारत के प्रस्ताव को करे स्वीकार



आतंकी गतिविधियों के लिए दुनियाभर की आलोचना झेल रहा पाकिस्तान एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेइज्जत हुआ है। किशनगंगा बांध परियोजना मामले में भारत की शिकायत लेकर वर्ल्ड बैंक पहुंचे पाकिस्तान को भारत का प्रस्ताव स्वीकार करने की सलाह मिली है।

आपको बता दें कि पाकिस्तान द्वारा इस मामले को इंटरनेशनल कोर्ट में ले जाया गया था, जहां भारत ने एक निष्पक्ष एक्सपर्ट की नियुक्ति का प्रस्ताव दिया था। डॉन न्यूज के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक वर्ल्ड बैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम ने कहा कि पाकिस्तान सरकार को यह सलाह मान लेनी चाहिए और उसे इस विवाद को ICL ले जाने के फैसले को बदल देना चाहिए।

पाकिस्तान का मानना है कि भारत सिंधु जल समझौते का उल्लंघन करता है।आपको बता दें कि सिंधु और उसकी सहायक नदियों के पानी का बंटवारा करने के लिए वर्ल्ड बैंक ने यह समझौता करवाया था। पाकिस्तान की 80 फीसदी कृषि सिंधु नदी के पानी से सींची जाती है। इसलिए पाक मानता है कि बांध बनाने से उसके यहां बहने वाली नदियों का जल स्तर कम हो जाएगा, इसलिए इस मामले की सुनवाई अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में होनी चाहिए।

वहीं भारत का कहना है कि सिंधु नदी समझौते से नदी के बहाव या जलस्तर में कोई बदलाव नहीं आएगा। पाकिस्तान से विवाद सुलझाने के लिए एक्सपर्ट नियुक्त किए जाने चाहिए। गौरतलब है कि भारत ने 2007 में पहली बार किशनगंगा पनबिजली परियोजना पर काम शुरू किया था। बाद में पाकिस्तान द्वारा इस मामले को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में ले जाने के बाद तीन साल के लिए इस परियोजना पर रोक लगा दी गई। कोर्ट ने 2013 में फैसला दिया कि किशनगंगा प्रॉजेक्ट सिंधु जल समझौते के मुताबिक है और भारत इसके पानी का प्रयोग कर सकता है।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com