-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

वित्तीय अनियमितता मामले में सचिव फूलचंद के खिलाफ मामला पंजीबद्ध 1 करोड 36 लाख 85 हजार की शासकीय राषि का किया गया गबन

वित्तीय अनियमितता मामले में सचिव फूलचंद के खिलाफ मामला पंजीबद्ध

1 करोड 36 लाख 85 हजार की शासकीय राषि का किया गया गबन

अनूपपुर/राजेन्द्रग्राम/

जनपद पंचातय पुष्पराजगढ़ के ग्राम पंचायत किरगी के तत्कालीन सचिव फुलचंद सिंह मरावी को 1 करोड 37 लाख 22 हजार 451 रूपए की शासकीय राषि आहरण कर वित्तीय अनियमितता किए जाने की पुष्टि होने पर 8 जून को जिला पंचायत सीईओ डाॅ. सलोनी सिडाना ने पद से पृथक करते हुए जनपद सीईओ पुष्पराजगढ़ राजेन्द्र त्रिपाठी को एफआईआर करने के निर्देष दिए थे। जिसके बाद 2 अगस्त को राजेन्द्रग्राम थाने में सचिव फूलचंद मरावी के खिलाफ धारा 409, 420 के तहत मामला पंजीबद्ध करते हुए मामले की विवेचना प्रारंभ कर दी गई है। वहीं पंचायत राज संचालनालय म.प्र. के संचालक ने 2 अगस्त को सचिव फूलचंद मरावी को अपने पदीय कर्तव्यो के निर्वहन में लापरवाही बरते जाने के कारण दो वेतन वृद्धि असंचयी प्रभाव से रोकने का दंड दिया जाकर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अनूपपुर को आदेष क्रमांक 1903/जिप./पं. प्रको/धारा 40/92/2018 दिनांक 8/06/2018 द्वारा दीर्घषास्ति स्वरूप पद से पृथक किए जाने का आदेष निरस्त करते हुए अपीलांट फूलचंद मरावी को सेवा में बहाल कर ग्राम पंचायत धीरूटोला जनपद पुष्पराजगढ़ में पदस्थ किए जाने का आदेष जारी किया गया। लेकिन आदेष के कुछ समय पहले ही सचिव फूलचंद के खिलाफ मामला पंजीबद्ध हो चुका था। मामले की जानकारी देते हुए राजेन्द्रग्राम थाना प्रभारी रामनाथ आर्मो ने बताया कि जनपद पुष्पराजगढ़ के खंड पंचायत अधिकारी जागृत सिंह द्वारा 26 जुलाई को सचिव फूलचंद मरावी के खिलाफ 1 करोड 37 लाख 22 हजार 451 रूपए की शासकीय राषि आहरण कर वित्तीय अनियमितता की 11 बिन्दुओ की षिकायत की गई थी, जिसमें हरिजन बस्ती विकास मद पीसीसी सड़क निर्माण मोहन चैधरी के घर से आयोध्या प्रसाद के घर तमक ग्राम किरगी में 1 लाख 84 हजार 300 रूपए के दुरूपयोग, म.प्र. पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 सहपठित म.प्र. पंचायत नियम 1849 के नियम 5 (1234) के विपरित नजूल भूमि में बिना सक्षम प्रधिकारी के अनुमति व तकनीकी व प्रषासकीय स्वीकृत प्राप्त किए 44 लोगो से 53 लाख 95 हजार ऊपर ही ऊपर अधूरे निर्मित दुकानो को आवंटित करते हुए प्राप्त राषि को पंचायत के खाते में जमा न कर नियम विरूद्ध स्वयं व्यय करना, कन्या मैट्रीक छात्रावास राजेन्द्रग्राम में 2 अतिरिक्त कक्ष के लिए प्राप्त राषि में से बिना कार्य पूर्ण कराए 1 लाख 50 हजार अधिक राषि आहरित करने, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में निर्मित किचेन शेड की दिवाल को जोडकर बिना तकनीकि व प्रषासकीय स्वीकृत प्राप्त किए 2 दुकान बनाकर 2 लोगो से 3 लाख रूपए नियम विरूद्ध आवंटित करना व प्राप्त राषि पंचायत के खाते में जमा नही करने, तहसील परिसर के सामने 8 दुकानो की नीलामी के दौरान 360 नग आवेदन पत्र विक्रय से प्राप्त 3 लाख 60 हजार रूपए एवं 2 लाख रूपए के मान से प्राप्त अमानत राषि 1 लाख 60 हजार रूपए एवं 2 लाख रूपए के मान से प्राप्त अमानत राषि 16 लाख 60 हजार रूपए कुल मिलाकर 1 लाख 96 हजार के विरूद्ध ग्राम पंचायत किरगी के बैंक खाते में मात्र 7 लाख 80 हजार जमा किया गया, शेष राषि 1 लाख 18 हजार का दुरूपयोग किया जाना, पंचायत परिसर किरगी के सामने निमार्णाधीन 9 दुकानो को आरक्षण नियम का पालन किए बिना मनमाने ढ़ग से लोगो को आवंटित करना, वर्ष 2011-12 में मनरेगा से ग्राम किरगी में शांतिधाम निर्माण कार्य में 3 लाख रूपए आहरित कर व्यय करना कार्य आज पर अधूरा होने, आईएपी मद से ग्राम किरगी से राजेन्द्रग्राम तक 237 मीटर नाली निर्माण कार्य के विरूद्ध मूल्यांकित राषि 2 लाख 608 से अधिक 5 लाख रूपए आहरित कर रूपए 2 लाख 99 हजार 392 का दुरूपयोग करने, अपने स्वयं के मरावी ट्रैवल्स एवं मरावी हार्डवेयर के बिल लगाकर ग्राम पंचायत किरगी से स्वयं 53 लाख 56 हजार 525 नियम विरूद्ध आहरित करने, पंकज दुबे पिता सुखनिधान दुबे ग्राम किरगी मेट के नाम 63 लाख 66 हजार 60 रूपए नियम विरूद्ध आहरण करने कुल 1 करोड 36 लाख 85 हजार 131 रूपए अपव्यय कर धोखाधड़ी कर गबन की षिकायत पर सचिव फूलचंद मरावी के खिलाफ मामला पंजीबद्ध करते हुए मामले की विवेचना प्रारंभ की गई है।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com