-->

Breaking News

महाआंदोलन का आगाज : सपाक्स समाज कर रही है भारत बंद की तैयारी....SAPAKS SAMAJ



भोपाल : सपाक्स समाज प्रांतीय कार्यालय में संरक्षक डॉ. हीरालाल त्रिवेदी, श्री विजय वाते    ( से.नि. एडीजीपी), डॉ. के.एल. साहू के उपस्थिति में  सपाक्स समाज कार्यकारणी सदस्यों के साथ की गई  बैठक में  सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है कि यदि केंद्र सरकार एक वर्ग विशेष के दबाव में उनकी  तुष्टिकरण के लिए SC/ST एट्रोसिटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के विरुद्ध जाकर अध्यादेश/बिल लाती है तो सपाक्स समाज इसका पुरजोर विरोध करेगा, क्योकि यह सपाक्स वर्ग के मौलिक अधिकारों का हनन करने वाला काला कानून होगा | साथ ही यह सामान्य ,पिछड़ा एंव अल्पसंख्यक वर्ग के लोगो के हितो के साथ कुठाराघात है |

इसलिए सपाक्स समाज द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के सम्मान एंव SC/ST एट्रोसिटी एक्ट के नवीन प्रावधानों वाले बिल के विरुद्ध चरण बध्द विरोध कार्यक्रम तय किया गया है |



1.    05 अगस्त 2018 – सभी जिलो/ब्लाक/तहसील स्तर पर SC/ST एट्रोसिटी एक्ट के “पुतले का दहन कार्यक्रम

2.     06 अगस्त 2018 – प्रेस कांफ्रेस कर के “चुल्लू भर पानी भेजो अभियान”  सभी जनप्रतिनिधियों को उनकी मूक दर्शिता व् कायरता के लिए चुल्लू भर पानी भेजा जाएंगा |

3.      7 अगस्त 2018 – “घंटी बजाओ कार्यक्रम” स्थानीय सांसद को उनके सामाजिक दायित्व निर्वहन,समानता मूलक व्यवहार को याद दिलाने के लिए उनके  घर के सामने घंटी बजाओ कार्यक्रम किया जाएंगा |

4.      8 अगस्त 2018 – सभी जिलो में कोर्ट/बार में जाकर “सम्मानीय वकीलों को काली पट्टी बांध कर” सर्वोच्च नयायालय के सम्मान और SC/ST एट्रोसिटी एक्ट के विरोध हेतु सहयोग मांगना |

5.      09 अगस्त 2018 – “सदबुध्दि यज्ञ  के बाद महा महिम राष्टपति के नाम कलेक्टर को ज्ञापन दिया जाना”

6.      12 अगस्त 2018 – सभी जिलो में सर्वोच्च नयायालय के सम्मान में और SC/ST एट्रोसिटी एक्ट के नवीन प्रावधान के “विरोध में रैली का आयोजन” किया जाना है |

देश के अन्य राज्यों के साथी संगठनो से विचार विमर्श कर यदि आवश्यक हुआ तो संस्था समाज के विभिन्न संगठनो के सहयोग से भारत बंद का आयोजन कर  सकता है |


No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com