-->

Breaking News

लालच के कारण अनुकम्पा नियुक्ति पर जबरन सवाल हो रहे खडे जमीन पैसा लेकर भी अनावष्यक परिवार को किया जा रहा परेषान मामले को बढा चढा विभाग को किया जा रहा भ्रमित-आरती शुक्ला

लालच के कारण अनुकम्पा नियुक्ति पर जबरन सवाल हो रहे खडे

जमीन पैसा लेकर भी अनावष्यक परिवार को किया जा रहा परेषान

मामले को बढा चढा विभाग को किया जा रहा भ्रमित-आरती शुक्ला

अनूपपुर/ प्रदीप मिश्रा - 8770089979


 
 इन दिनो अनुकम्पा नियुक्ति का एक मामला प्रकाष में आ रहा है जहां परिवारिक रंजिसों के कारण परिवार का ही सदस्य जबरन परेषान करने के उदद्ेष्य से शिकायत शिकवा किया जा रहा है षिकायत के बाद विधवा आरती शुक्ला द्वारा जवाब में बताया गया है कि मेरे पति के स्वर्गवास के बाद 6 वर्ष तक किसी ने कोई अनुकम्पा नियुक्ति की बात नही की आरती शुक्ला ने बताया की मेरे पति के पहली पत्नी के स्वर्गवास होने के बाद उनके दोनों पुत्र जमीन जायदाद का हिस्सा ले लिये और मैं उनकी दूसरी पत्नी आरती शुक्ला जिसका अधिकार बनता है मैने सहमति के आधार पर अपने पुत्र को नौकरी दी  मेरे पति सुरेश कुमार शुक्ला आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी के पद पर पदस्थ थे, जिनके जिनकी सेवाकाल के दौरान दिनांक 24.11.2011 को मृत्यु हो च्ुाकी है यह है कि मेरे दो पुत्र प्रषांत शुक्ला व प्रकाष शुक्ला है जो पति के मृत्यू के बाद छोटे छोटे अर्थात नाबालिक बच्चों को अपने साथ रखी थी तब से प्रमोद शुक्ला हमेषा लडाई झगडा करता रहा जिस कारण मैं अपने दोनों नाबालिक बच्चों को लेकर लगभग 10-15 वर्षो से अनूपपुर में निवास करती हूं मेरे पुत्र प्रषांत शुक्ला की अनुकम्पा नियुक्ति जिला आयुष कार्यालय शहडोल में सहायक वर्ग 03 के पद पर शासन के नियमानुसार की गई है मेरे पुत्र प्रषांत शुक्ला की अनुकम्पा नियुक्ति के संबंध में प्रमोद शुक्ला द्वारा रंजिषन षिकायत की गई है जबकि प्रषांत शुक्ला की नियुक्ति शासन नियमानुसार हुई है

वर्षो से नही कोई नाता हमारी भूमि को भी अवैध रूप से कराया अपने नाम

प्रमोद शुक्ला श्रीकृष्ण शुक्ला दोनो का लगभग 10 वर्षो से मेरे परिवार से कोई संबंध नही रहा है प्रमोद शुक्ला व श्रीकृष्ण शुक्ला दोनो मेरे पति के पैतृक ग्राम मंझगवां जिला रीवा स्थित आराजी ख0नं0 197/1 रकवा 0.020 हे0, ख0नं0 231 रकवा 0.032 हे0, 270/1 रकवा 0.351 हे0, ख0नं0 272/1 रकवा 0.222 हे0, ख0नं0 278/4क रकवा 0.020 हे0, कुल 05 किता कुल रकवा 0.645 हे0 भूमि को चोरी छिपे अपना नाम राजस्व अभिलेख में दर्ज करा लिये है तथा मेरे पति की सेवा-पुस्तिका में अंकित नाम मुताबिक प्रमोद शुक्ला व श्रीकृष्ण दोनों पांच पांच लाख रूपये प्राप्त कर चुके है मुझे व मेरे पुत्रों को पैतृक संपत्ति में कोई हिस्सा नहीं दिया गया है, प्रमोद शुक्ला द्वारा बार बार यह कहा जाता है कि मुझे पिता से कुछ नही मिला है जबकि दोनों पुत्र पैतृक भूमि व पैसा दोनों प्राप्त कर चुके है प्रमोद शुक्ला की प्रथम शादी पूर्णिमा दुबे ग्राम हिनौती रीवा के साथ हुई  थी प्रथम पत्नी को छोडकर पुनः मीना द्विवेदी निवासी ग्राम राजेन्द्रग्राम जो पूर्व से शादीषुदा थी के साथ सामाजिक व पारिवारिक रस्मों से पृथक रस्मों -रिवाज से शादी कर लिया है इस कारण भी पारिवारिक व सामाजिक  रूप से हमारा संबंध नही है

6 वर्षो से नही किया गया कोई आवेदन

आरती शुक्ला ने बताया की मेरे पति के मृत्यु के 06 वर्ष तक प्रमोद शुक्ला द्वारा अनुकम्पा नियुक्ति हेतु कोई आवेदन नही किया गया इससे स्पष्ट जाहिर होता है कि इसे अनुकम्पा नियुक्ति में कोई हक व अधिकार प्राप्त नही था और न ही पात्रता रखता है दोनो भाई प्रमोद शुक्ला व श्रीकृष्ण शुक्ला शादीशुदा है जिनके बच्चे भी है और प्रमोद शुक्ला झोलाछाप डाॅक्टरी भी करता है मेरे पति अपनी जीवन काल के दौरान ग्राम अनूपपुर में 0.3डि0 भूमि क्रय किया था जिसमें बैंक लोन लेकर मकान बनवाया था जिसकी बैंक लोन 6,00.000/-रू. छैः लाख रूप्ये आज भी बकाया है मेरे द्वारा बैंक लोन अदा नही किया गया है जिसकी बकाया राशि की वसूली की नोटिस समय समय पर बैंक द्वारा दी जाती है जिसका बैंक लोन से संबंधित प्रकरण उपभोक्ता फोरम भोपाल मे विचाराधीन है प्रमोद शुक्ला प्रथम पत्नि के पुत्र होने से मेरे व मेरे बच्चों से व्यक्तिगत रंजिष रखता है और मुझे मानसिक रूप से प्रताडित कर डरा धमका कर परेशान करता रहता है प्रमोद शुक्ला के आचरण व कृत्यों से मैं व मेरे पुत्र काफी भयभीत व परेषान रहते है

जबरन डरा धमका किया जा रहा परेषान

प्रमोद शुक्ला द्वारा शिकायतकर्ता नियुक्त किया गया है जिसका नाम प्रदीप मिश्रा है आर0टी0आई0 एजेन्ट भोपाल बताया जा रहा है उक्त व्यक्ति अर्थात प्रदीप मिश्रा के द्वारा मुझे व मेरे बच्चों को डराया व धमकाया जाता है आरती शुक्ला द्वारा दिये गये मोबाइल नम्बर 9340096442 प्रदीप मिश्रा जो कि आरती शुक्ला से 2 माह पहले से फोन से संपर्क साधने की कोषिष किया और आरती शुक्ला ने बताया की खुद को यह अधिकारी बता मेरे व मेरे परिवार के सदस्यों को डराता व धमकाता है प्रदीप मिश्रा नाम के शख्स का पता लगाये जाने पर खुद को ब्यौहारी का प्रदीप मिश्रा बता रहा है व भारती जनक्रांति दल का नेता बता रहा है और भोपाल में रहना बता रहा है मेरे पुत्र की अनुकम्पा नियुक्ति में उक्त व्यक्तियों का किसी तरह का कोई अधिकार प्राप्त नही है

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com