-->

Breaking News

GUNA NEWS : तीन वर्ष से गायब हैं प्राणी शास्त्र के प्राध्यापक तो एक वर्ष से समाजशास्त्र के प्राध्यापक अवकाश पर



राजकुमार पंत एमपी ऑनलाइन न्यूज़ संवाददाता
प्राचार्य ने शैक्षणिक स्टाफ  की ली बैठक 
आरोन। शासकीय महाविद्यालय आरोन में स्नातक प्रथम वर्ष में अभी तक कुल 259 तथा स्नातकोत्तर प्रथम सैम में 39 छात्र-छात्राओं ने प्रवेश लिया है। फिलहाल वर्तमान में सीएलसी चक्र चल रहा है जिसमें पहले ही दिन 250 छात्र-छात्राओं ने अपना पंजीयन कराया। नव प्रवेशित विद्यार्थियों की नियमित कक्षाएँ आरम्भ हो चुकी हैं तथा सत्र 2018-19 की समय सारिणी जारी कर उच्च शिक्षा विभाग के पोर्टल पर अपलोड कर दी गई है। इस सम्बन्ध में कॉलेज प्राचार्य डॉ. निरंजन श्रोत्रिय ने समस्त शैक्षणिक स्टाफ की एक बैठक आयोजित कर नियमित कक्षा लेने हेतु आवश्यक निर्देश दिए। डॉ. श्रोत्रिय ने बताया कि पिछले वर्षों में नियमित कक्षाएँ न लगने का कारण शैक्षणिक स्टाफ की कमी एवं अतिथि विद्वानों की सीमित पीरियड लेने की व्यवस्था थी लेकिन इस सत्र से उच्च शिक्षा विभाग ने समस्त अतिथि विद्वानों को पूरे वर्ष हेतु आमंत्रित किया है तथा उनका मानदेय भी प्रति दिवस डेढ़ हजार रुपए कर दिया है। इन स्थितियों में स्टाफ  की कमी से होने वाली अध्यापन में होने वाली बाधा को काफी हद तक दूर किया जा सकेगा। इस समय आरोन कॉलेज में सात प्राध्यापक पदस्थ हैं जिनमें से प्राणी शास्त्र के प्राध्यापक तीन वर्षों से अनधिकृत रूप से अनुपस्थित हैं तथा समाज शास्त्र की प्राध्यापक एक वर्ष के अवकाश पर हैं। महाविद्यालय में अतिथि विद्वानों की संख्या 15 है। महाविद्यालय में नए सत्र में समस्त कक्षों में व्हाइट बोर्ड लगवा दिए गए हैं तथा इन कक्षों में सीसीटीवी की व्यवस्था पूर्व से ही है। महाविद्यालय में जियो के नि:शुल्क वाई फाई की केबलिंग का कार्य पूर्ण हो चुका है तथा शीघ्र ही यह प्रणाली आरम्भ होगी। इस बैठक में प्राध्यापक डॉ. सुमन श्रीवास्तव, महाविद्या उपाध्याय, डॉ. वी.एस. मीना, डॉॅ. राकेश गुप्ता, डॉ. पूनम नामदेव, आरती पाठक, हर्ष जैन, ब्रजेश बरहादिया, मंजरी तिवारी, डॉ. अभिषेक जैन, डॉ. रेणु गुप्त, विनीत राव कोहिटे, राम भार्गव, हेमा तोमर तथा राजीव चौबे उपस्थित रहे। 

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com