-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

छत टूटकर गिरने से महिला के सिर में गम्भीर चोट बाल बाल बचा परिवार मामला हसदेव क्षेत्र के बिजुरी कालरी अंतर्गत माइनस कालोनी का डीसेंट हाउसिंग के नाम पर करोड़ो के काम के बाबजूद प्रबंधन के प्रति श्रमिको में आक्रोश

छत टूटकर गिरने से महिला के सिर में गम्भीर चोट

बाल बाल बचा परिवार

मामला हसदेव क्षेत्र के बिजुरी कालरी अंतर्गत माइनस कालोनी का 

डीसेंट हाउसिंग के नाम पर करोड़ो के काम के बाबजूद

प्रबंधन के प्रति श्रमिको में आक्रोश

अनूपपुर/बिजुरी/-प्रदीप मिश्रा -8770089979

कालरी प्रबंधन पर आए दिन भेदभाव के आरोप प्रत्यारोप लगते रहते है,प्रबंधन के अधिकारी भी धृतराष्ट्र बने रहते है करोड़ो रूपये प्रतिवर्ष कालरी आवासों के नाम पर तो कंही डिसेंट के नाम पर खर्च होता रहता है ,कालोनियो के आवास तो जर्जर होते गए लेकिन ठेकेदारों के दो रूम से शानादर हवेलियां बनती गयी आज स्थानीय स्तर पर देखते ही देखते कई कालरी ठेकेदार कालरी के अधिकारियो की मिलीभगत के कारण करोड़ पति बन गए । यूनियन के नेता सिर्फ अपनी मेम्बरशिप तक ही नजर आते है लेकिन श्रमिक हितों के नाम पर प्रबंधन पर निजी स्वार्थ की पूर्ति के लिए ही दवाब बनाते है श्रमिको के नाम पर इन यूनियनों के नेता हाजरी लगाकर घूमने ,अपने करीबियों को ठेकेदारी ,ओव्हर टाइम का लाभ लेते है,इनको श्रमिको की समस्यायों से कोई लेना देना नही रहता है। आज इसी लूट का खामियाजा बिजुरी बी टाइप मे विशाल सिंह के परिवार को उठानी पड़ रही है। ओ.एम.  के किचन की छत गिरने से उनके माँ के सिर मे गहरी चोट आई है बाकी भगवान की कृपा से उनके बच्चे बाल-बाल बच गए। बिजुरी के आवासो मे किए गए डिसेंट हाउसिंग की गुणवत्ता की पूरी कहानी कहने को यही घटना काफी है। लेकिन दुर्भाग्य है कि जो श्रमिक अपने जान की बाजी लगाकर कोयला निकाल देश की तरक्की में भागीदार बन रहे प्रबधन के अधिकारी जिनकी बदौलत बड़ी बड़ी तनख्वाह ले रहे  लेकिन इनकी मानवीय सनवेदना जैसे मर चुकी है इतनी बड़ी घटना के बाद भी प्रबंधन कोई ब्यक्ति घटना स्थल पर जाना उचित नही समझा ।घटित घटना से जंहा कालरी आवासों में रह रहे श्रमिको में अपने परिवार को  लेकर चिंता बनी हुई है बरसात का मौषम है कब क्या घटना घटित हो जाये ।वंही अंदर ही अंदर आज की घटना के बाद श्रमिको में वर्तमान प्रबधन के नुमाइंदों के साथ यूनियन नेतायों के प्रति काफी आक्रोश है कोई ड्यूटी के चलते  खुलकर बोलने को तैयार न पर इस घटना का जिम्मेदार वर्तमान प्रबंधन को ही मानकर चल रहा।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com