-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

हिंदी के विकास के लिए हर भारतीय इसे अपने सामान्य व्यवहार में अपनाएं : श्रीमती जी गायत्री आर .के .व्ही. व्ही. कपिलधारा में हिंदी सप्ताह समारोह का आयोजन

हिंदी के विकास के लिए हर भारतीय इसे अपने सामान्य व्यवहार में अपनाएं : श्रीमती जी गायत्री

आर .के .व्ही. व्ही. कपिलधारा में हिंदी सप्ताह समारोह का आयोजन

अनूपपुर / बिजुरी / प्रदीप मिश्रा -8770089979

भारत की संविधान सभा ने हिंदी भाषा को संघ की राजभाषा के रूप में 14 सितंबर 1949 को स्वीकार किया था। इसलिए प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रुप में मनाया जाता है। साथ ही साथ एक सप्ताह तक इसके कार्यक्रम विद्यालयों- में हिंदी सप्ताह के रूप में मनाया जाता है।आर के व्ही व्ही सप्ताह भर अलग अलग दिन अलग अलग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। हिंदी दिवस की 69वी वर्षगांठ के अवसर पर  आर के व्ही व्ही कपिलधारा बिजुरी में हिंदी दिवस समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ दीप प्रज्ज्वलन कर प्राचार्या श्रीमती जी यायत्री ने किया। कार्यक्रम का प्रारंभ बच्चों के गणेश वंदना से हुआ। मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए जी गायत्री  ने कहा कि संविधान सभा में एक मत से निर्णय लिया था कि हिंदी भारत की राजभाषा होगी तथा लिपि देवनागरी होगी। इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिंदी भाषा के प्रचार प्रसार और उसके उपयोग के प्रोत्साहन के लिए यह समर्पित दिवस है। यह निर्णय 14 सितंबर को लिया गया था, इसलिए इसी दिन को श्रेष्ठ माना गया। उन्होंने छात्र छात्राओं तथा उपस्थित गणमान्य जनों से कहा कि जब तक सभी लोग हिंदी का उपयोग पूरी तरह से नहीं करेंगे तब तक हिंदी भाषा का विकास नहीं हो सकता है। इस एक दिन सभी लोग अंग्रेजी के स्थान पर हिंदी का उपयोग करें। उन्होंने अनुरोध किया कि अपनी बोलचाल की भाषा में भी हिंदी का ही उपयोग करें। विश्व हिंदी दिवस प्रतिवर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है।इसका उद्देश्य विश्व में हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए जागरूकता पैदा करना तथा हिंदी को अंतर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना है।  कार्यक्रम के अंतिम दिन कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें विद्यापीठ के विद्यार्थियों एवम शिक्षकों ने भाग लिया। छात्र छात्राओं ने हिंदी निबन्ध, लेखन, भाषण, गीत तथा चित्रकला आदि कार्यक्रमो में भाग लिया। उन्हें पुरस्कृत भी किया गया।अंत मे हिंदी संस्कृत विभाग द्वारा सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया गया।




No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com