-->

Breaking News

चुनाव से पहले इंटरनेट पर एक करोड़ बार सर्च किया गया व्यापमं घोटाला



भोपाल। देश में अब चुनाव की रणनीति पूरी तरह से बदल चुकी है। चुनाव प्रचार से लेकर पार्टी की छवि चमकाने तक, अब चुनावी जंग इंटरनेट के सहारे लड़ी जा रही है। 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से पूरा परिदृश्य ही बदल गया है। इंटरनेट के दौर में अब उम्मीदवारों को भी हाईटेक होना पड़ रहा है। राजनीतिक दल भी टिकट बंटवारे के समय सोशल मीडिया पर नेताओं की भूमिका को अहम मान रहे हैं । 

जिसके जितने ज्यादा फालोवर उसको टिकट मिलने की ज्यादा संभावना। लेकिन इन सब के बीच युवा प्रदेश में इंटरनेट पर नेताओं के बारे कम और व्यापमं घोटाले को ज्यादा खो रहे हैं। चुनाव का ऐलान होने के बाद से अब तक प्रदेश में इंटरनेट पर एक करोड़ बार व्यापमं को सर्च किया गया है। जिससे बीजेपी की चिंता बढ़ गई है। पार्टी को डर है कही व्यापमं का साया इस बार चुनाव में उसके उम्मीदवारों का खेल न बिगाड़ दे।

जानकारी के मुताबिक व्यापमं का भूत 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को परेशान करने एक बार फिर लौट आया है। इंटरनेट पर धड़ल्ले से व्यापमं द्वारा भर्ती घोटाले के बारे में यूजर्स सर्च कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक व्यापमं को लेकर इंटरनेट पर बीते एक महीने में दस लाख से लेकर एक करोड़ हिट मिले हैं। 2013 में व्यापमं घोटाले को लेकर बीजेपी काफी चिंता में थी, लेकिन फिर भी भारी मतों से चुनाव जीती थी। लेकिन व्यापमं घोटाला एक बार फिर सरकार को परेशान करने लौट आया है। विपक्षी दल कांग्रेस भी लगातार व्यापमं मामले को लेकर बीजेपी पर हमला करती रही है। हाल ही में दिग्विजय सिंह ने कोर्ट में एक बार फिर व्यापमं मामले को लेकर याचिका दाखिल की है।

वहीं, इंटरनेटर पर इस बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी छाए हैं। इंटरनेट पर एक महीने में उनके नाम को लेकर दस हजार से एक लाख के बीच हिट मिले हैं। वहीं, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और ज्योतिरादित्या सिंधिया भी इस मामले में शिवराज को इंटरनेट पर टक्कर दे रहे हैं। कांग्रेस से साइडलाइन कहे जाना वाले पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह की भी लोकप्रियता कम नहीं है। उनको भी इंटरनेट पर लगभग एक लाख हिट मिल रहे हैं। लेकिन लोग उनके निजी जीवन के बारे में ज्यादा जानने के इच्छुक हैं। उनकी दूसरी शादी को लेकर इंटरनेट पर सबसे ज्यादा सर्च किया गया है। वहीं, बाबूलाल गौर भी इंटरनेर पर सर्चिंग के मामले में टॉप पर हैं।

नेताओं की जाति जानने के बारे में इच्छुक लोग
इंटरनेट पर यूजर्स नेताओं के बारे में जानने के अलावा उनकी जाति को लेकर भी काफी गंभीर नजर आ रहे हैं। इनमें शिवराज सिंह चौहान, उमा भारती, कमलनाथ, ज्योतिरादित्या सिंधिया, बाबूलाल गौर और कैलाश विजयवर्गीय शामिल हैं।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com