-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

मीजल्स-रूबेला अभियान माह जनवरी-फरवरी-2019 में मीजल्स रूबेला (एम.आर.) अभियान हेतु अभिभावकों से अपील

मीजल्स-रूबेला अभियान माह जनवरी-फरवरी-2019 में

मीजल्स रूबेला (एम.आर.) अभियान हेतु अभिभावकों से अपील

अनूपपुर/ मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी श्री आर पी श्रीवास्तव ने बताया है कि प्रदेश के समस्त जिलों में माह जनवरी 2019 से समस्त आॅगनबाडियों में दर्ज 09 माह से 05 वर्ष तक के बच्चों एवं समस्त शासकीय एवं निजी प्राईमरी, मिडिल एवं हाई स्कूल में दर्ज 15 वर्ष तक के बच्चों को मीजल्स रूबेला का टीका संबंधित आगनबाडी केन्द्रों एवं स्कूलों में लगाया जाना है। मीजल्स एवं रूबेला बीमारी 09 माह से 15 वर्ष तक के बच्चों को होती है।
खसरा रोग के लक्षण
खसरा एक बेहद संक्रामक रोग है यह इससे प्रभावित व्यक्ति के खांसने एवं छींकने पर फैलता है। सामान्य तौर पर खसरे के लक्षण है चेहरे एवं शरीर पर गुलाबी, लाल दाने या चकत्ते, अत्याधिक बुखार, खांसी, नाॅक का बहना एवं आॅंखों का लाल हो जाना। इस बीमारी से कुपोषण, अंधापर एवं मृत्यु तक हो सकती है।
रूबेला के लक्षण
बच्चों में यह रोग आमतौर पर हल्का होता है जिसमें गले में खरास, कम डिग्री का बुखार, मिचली एवं हल्की आॅखे लाल हो जाती है। काॅन के पीछे एवं गर्दन में सूजी हुई ग्रन्थियां दिखने लगती हैं। संक्रमित वयस्क ज्यादातर महिलाओं में जोड़ों में पीडा होती है। यह वायरस लडके एवं लडकियां दोनों को संक्रमित कर सकता है। गर्भावस्था में रूबेला वायरस से संक्रमित स्त्री के गर्भ का विकास एवं नवजात शिशु का सही विकास नही होने से जीवन भर के लिए विकलाॅग हो सकता है एवं गर्भपातध्समय से पूर्व प्रसवध्मृत शिशु का जन्म भी हो सकता है। उन्होंने बताया कि दोनों बीमारियों की रोकथाम हेतु एम.आर. (मीजल्स रूबेला) टीकाकरण अभियान जिले में चलाया जाना है। इसके अन्तर्गत स्कूल, आंगनबाडी में दर्ज बच्चे एवं इसके अलावा स्कूल एवं आंगनबाडी से छूटे हुए बच्चों को निःशुल्क टीका स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा निर्धारित दिवस में लगाया जाएगा।  उन्होंने समस्त अभिभावकों से अपील की है कि टीकाकरण हेतु निर्धारित दिवस को अपने बच्चों को टीकाकारण हेतु स्कूल एवं आंगनबाडी में अनिवार्य रूप से भेजें। अपने संबंधीजन को भी एम.आर. के टीके लगाए जाने हेतु जानकारी प्रदाय कर प्रेरित करें जिससे कि शत प्रतिशत बच्चों को एमआर व्हैक्सीन से टीकाकृत कर इस संक्रामक रोगों से बचाया जा सके। एम.आर. टीकाकारण अभियान हेतु अधिक जानकारी स्कूल के टीचर/एएनएम/आशा/आंगनबाडी से सम्पर्क कर प्राप्त कर सकते हैं।   





No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com