-->

Breaking News

कलेक्टर श्रीमती अनुग्रह पी. ने विटामिन ए का घोल बच्चों को पिलाकर की शुरूआत स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिये घर-घर में दी जायेगी दस्तक

दस्तक अभियान द्वितीय चरण का हुआ शुभारंभ

कलेक्टर श्रीमती अनुग्रह पी. ने विटामिन ए का घोल बच्चों को पिलाकर की शुरूआत

स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिये घर-घर में दी जायेगी दस्तक    

अनूपपुर/प्रदीप मिश्रा -8770089979
जिला अनूपपुर में स्वास्थ्य विभाग द्वारा महिला बाल विकास विभाग के सहयोग से 17 दिसम्बर 2018 से 31 जनवरी 2019 तक चलाये जाने वाले दस्तक अभियान का शुभारंभ महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को दस्तक टूलकिट जिसमें 12 गतिविधियों की आवश्यक दवाओं के साथ प्रदान कर दस्तक अभियान का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर वार्डनं. 02 आंगनबाडी केन्द्र अनूपपुर में 0-5 वर्ष तक के बच्चों को दस्तक अभियान के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी दी गई एवं कलेक्टर जिला अनूपपुर श्रीमती अनुग्रह पी. द्वारा वार्ड क्र. 03 की कु. रागनी सिंह गोंड पिता महेन्द्र सिंह गोंड उम्र 05 वर्ष एवं कु. इनाया पिता इरसाद आलम उम्र 04 वर्ष को विटामिन ए दवाई पिलाकर शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में पत्रकार बंधु, स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आर.पी. श्रीवास्तव, जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ. एस.बी. चैधरी, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती मंजूलता सिंह, सहायक जिला परियोजना अधिकारी श्रीमती स्वाति अमोले, सुपरवाईजर श्रीमती निशाकिरण जिला आईसीसलाहकार मो. साजिद खान, युनिसेफ समन्वयक डाॅ. यादवेन्द्र, आरबीएस के समन्वयक जतिन भट्ट ने भी बच्चों को दवाई पिलाई। इस अवसर पर लगभग 63 बच्चों को दवा पिलाई गई। कार्यक्रम में महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ता, आशाकार्यकर्ता उपस्थितरहीं। दस्तक अभियान के अंतर्गत आशा, आंगनबाडीकार्यकर्ता एवं एएनएम संयुक्त रूप से घर-घर जाकर 05 वर्ष से कम आयु के बच्चों की जानकारी प्राप्त कर विभिन्न प्रकार की बीमारियों की पहचान एवं उपचार कार्य करेंगी। दस्तक अभियान के अंतर्गत 05 वर्ष से कम उम्र के गम्भीर कुपोषित बच्चों की सक्रिय पहचान रेफरल एवं प्रबंधन, 06 माह से 05  वर्ष तक के बच्चों में गम्भीर एनीमिया की पहचान कर उनका प्रबंधन, 02 माह से 05 वर्ष तक के समस्त बच्चों को विटामिन ए अनुपूरण पिलाई जायेगी। 05 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में दस्तरोग के नियंत्रण के लिए ओ.आर.एस. की उपयोगिता के लिए सामुदायिक जागरूकता बढाने के लिए आशा एवं आॅगनबाडीकार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा गृह भेंटकर ओ.आर.एस पहुचाना और उनके बनाने की विधि को प्रदर्शन करना। मातापिता एवं परिजनों को शिशु एवं बाल आहार संबंधी समझाइस देना। नवजात की उचित देखभाल, कंगारू मदर केयर पद्धति संबंधी जागरूकता के लिये माताओं से चर्चा, तथा एस.एन.सी.यू. एवं एन.आर.सी. में भर्ती बच्चों को छुटटी के पश्चात उनका फालोअप करना। बच्चों में दिखाई देने वाले जन्मजात गतिविधियों की पहचान करना है।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com