-->

Breaking News

सरकार बनते ही 'कलेक्टर' का नाम बदल देंगे कमलनाथ, पत्रकारों की पोल खोलने की कही बात...



भोपाल : मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव का परिणाम 11 दिसम्बर को आना है, सरकार किसकी होगी यह तय हो जाएगा| लेकिन इससे पहले बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही अपनी जीत का दावा कर रहे हैं और तैयारी भी ऐसी कर रहे हैं जैसे उनकी ही सरकार बन रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जहां नतीजों से पहले कैबिनेट बैठक की जो कि अगर सरकार बनती है तो बाद में भी की सकती थी। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष 140 अधिक सीटों पर जीत का दावा कर रहे हैं और पूरी तरह सरकार बनाने की तैयारी कर रहे है, इतना ही नहीं मुख्यमंत्री कौन होगा इसकी भी चर्चा तेज हो गई है। इन सबके बीच अब कमलनाथ ने यह भी तय कर लिया है कि प्रशासनिक पदों के नाम में भी कमलनाथ बदलाव करेंगे और सरकार बनते ही कलेक्टर का नाम बदल दिया जाएगा ।

दरअसल, पीसीसी चीफ भोपाल में प्रेस वार्ता में पत्रकारों से कर रहे थे। जहाँ उन्होंने कहा कि व्यवस्था में बदलाव की ज़रूरत है| कलेक्टर क्यों कहा जाता है, ये तो अंग्रेजों का दिया शब्द है, कलेक्शन करते थे तो कलेक्टर कहने लगे, ऐसी चीज़ों को बदलने की ज़रूरत है। उन्होंने कहा मैं कलेक्टरों से पूछूंगा कि उनका क्या नाम रखा जाए. ऐसा बहुत कुछ बदला जाएगा, सरकार में आते ही कलेक्टर जैसे पदों के नाम बदले जाएंगे। इसके साथ में कमलनाथ ने कहा है कि कांग्रेस की सरकार बनेगी और 140 से ज्यादा सीटे मिलेगी।

मुझे एक्जिट पोल करने वालों ने फोन किया, आप जीत रहे हो : कमलनाथ
नाथ ने कहा कि अगले 5 दिन में मध्यप्रदेश के विकास का नया दिन शुरू होने वाला है। मध्यप्रदेश इतिहास रचने को है। इस बार कांग्रेस की सरकार बनेगी और 140 से ज्यादा सीटे आएगी। उन्होंने कहा मुझे एक्जिट पोल करने वालों ने फोन किया है, कि आप जीत रहे हैं। नाथ ने कहा कि मैने एक एक क्षेत्र में अध्ययन कर यह दावा किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में व्यवस्था और सोच में परिवर्तन की आवश्यकता है। विभाजन की राजनीति जो दिल्ली में है वो प्रदेश में नही होनी चाहिए।  कांग्रेस की सरकार बनने पर कलेक्टर जैसे पदों का नाम बदला जाएगा। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए  कहा कि पैसे बांटने से कुछ नही होगा।  मुझे पूरा विश्वास है भाजपा के बड़े बड़े दिग्गज ये समझेंगे की मध्यप्रदेश के मददाता कितने समझदार है। भाजपा ने प्रशासनिक दुरुपयोग करने की कोशिश की थी ,लेकिन अधिकारियों ने ऐसा होने नही दिया मैं उन्हें बधाई देना चाहता हूं।मध्यप्रदेश के मददाताओं ने अपना वोट प्रदेश की हित में दिया है और मुझे पूरा विश्वास है कि कांग्रेस की जीत होगी।

वही उन्होंने सरकार बनने पर पत्रकारों की भी पोल खोलने की बात कही हैं।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com