-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

टेस्‍ट के बाद वनडे सीरीज भी जीतकर भारत ने रचा इतिहास



मेलबर्न: विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज जीतकर इतिहास रच दिया है. भारत की इस जीत के हीरो लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल रहे जिन्‍होंने मैच में छह विकेट लिए. उनके इस प्रदर्शन की बदौलत सीरीज के तीसरे और निर्णायक मैच में भारत ने आज यहां ऑस्‍ट्रेलिया को सात विकेट से पराजित कर दिया. भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया को उसके देश में पहली बार द्विपक्षीय सीरीज में हराने का कारनामा किया है. चहल की जादुई गेंदबाजी के चलते भारत के आमंत्रण पर पहले बल्‍लेबाजी करने उतरी ऑस्‍ट्रेलिया टीम 48.4 ओवर में 230 रन पर ढेर हो गई. जवाब में भारत ने 231 रन का टारगेट 49.2 ओवर में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया. टीम इंडिया के लिए धोनी सर्वाधिक 87 रन और केदार जाधव 61 रन बनाकर नाबाद रहे. कप्‍तान विराट कोहली ने 46 रन बनाए. सीरीज में एमएस धोनी ने तीनों वनडे में अर्धशतक जमाए. अपनी बल्‍लेबाजी से माही ने उन आलोचकों को करारा जवाब दिया जो उनकी बल्‍लेबाजी की क्षमता पर सवाल उठा रहे थे. भारत ने इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया को उसके देश में टेस्‍ट सीरीज में भी हराने का कारनामा पहली बार किया था. मैच में छह विकेट लेने वाले युजवेंद्र चहल मैन ऑफ द मैच रहे जबकि महेंद्र सिंह धोनी को मैन ऑफ द सीरीज घोषित किया गया.

ऑस्‍ट्रेलिया के 230 रन का पीछा करते हुए रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी शुरुआत में धीमी रही. पहले चार ओवर में केवल चार रन भारत के खाते में आए थे. पांचवें ओवर में छह रन बने और भारत का स्‍कोर 10 रन तक पहुंच पाया.भारत की पारी का पहला चौका छठे ओवर की तीसरी गेंद पर रोहित शर्मा के बल्‍ले से आया. हालांकि इसी ओवर में रोहित (9) को पवेलियन लौटना पड़ा, सिडल की गेंद पर उनका कैच पहले स्लिप पर शॉन मार्श ने लपका. 10 ओवर में भारत का स्‍कोर एक विकेट खोकर 26 रन था. नए बल्‍लेबाज कोहली ने धवन के साथ स्‍कोर को आगे बढ़ाना शुरू किया.14वें ओवर में स्‍टेनलेक के खिलाफ आक्रामक तेवर दिखाते हुए कोहली ने दो चौके लगाए. भारतीय टीम के 50 रन 13.4 ओवर में पूरे हुए. 15 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर एक विकेट खोकर 54 रन था.17वें ओवर में आक्रमण पर लाए गए मार्कस स्‍टोइनिस ने ऑस्‍ट्रेलिया को दूसरी कामयाबी दिलाई. उन्‍होंने शिखर धवन (23)  को अपनी ही गेंद पर कैच किया. स्‍टोइनिस को इस ओवर में धोनी का भी विकेट मिल सकता था लेकिन ग्‍लेन मैक्‍सवेल ने आसान कैच टपका दिया.चूंकि भारत के सामने बहुत बड़ा लक्ष्‍य था इसलिए विराट और धोनी ने रनगति बढ़ाने में ज्‍यादा जल्‍दबाजी नहीं दिखाई और विकेट पर टिकने पर ध्‍यान दिया.25 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर दो विकेट खोकर 93 रन था.

भारतीय टीम के 100 रन 26.3 ओवर में पूरे हुए. कोहली और धोनी की साझेदारी ऑस्‍ट्रेलियाई टीम के लिए परेशानी का कारण बनती जा रही थी. जल्‍द ही इन दोनों बल्‍लेबाजों के बीच अर्धशतकीय साझेदारी 74 गेंदों पर पूरी हुई. टीम इंडिया मज‍बूती से लक्ष्‍य की ओर बढ़ रही थी.कोहली 4 रन से अर्धशतक चूक गए. उन्‍हें 46 रन के निजी स्‍कोर पर जे. रिचर्डसन ने विकेटकीपर कैरी के दस्‍तानों में कैच कराया. कोहली और धोनी ने तीसरे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी की. 30 ओवर के बाद भारत का स्‍कोर तीन विकेट पर 113 रन था. कोहली के स्‍थान पर केदार जाधव बैटिंग के लिए उतरे. भारत के लिए वांछित रन औसत बढ़कर छह रन प्रति ओवर के ऊपर पहुंच चुका था, ऐसे में जरूरत तेजी से रन जुटाने की थी.35  ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर तीन विकेट खोकर 133  रन था.सीरीज के दूसरे  वनडे में भारत के लिए विजयी शॉट लगाने वाले धोनी ने मेलबर्न वनडे में भी अर्धशतक जमाया. यह उनका 70वां अर्धशतक रहा. उन्‍होंने इस दौरान 74 गेंदों का सामना करते हुए तीन चौके लगाए. 38वें ओवर में ही भारत के 150 रन पूरे हुए.40 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर तीन विकेट खोकर 165 रन था. शेष 10 ओवर में भारतीय टीम को जीत के लिए 66 रन की जरूरत थी और सात विकेट हाथ में थे.जब जरूरत तेज बल्‍लेबाजी की थी. 41वें में दोनों बल्‍लेबाजों ने छह रन बनाए लेकिन अगले दो ओवर में केवल सात रन बन पाए.41वें में दोनों बल्‍लेबाजों ने छह रन बनाए लेकिन अगले तीन ओवर में केवल आठ रन बन पाए. हर डॉट बॉल के साथ दबाव बल्‍लेबाजों पर हावी हो रहा था.पारी का 45वां ओवर स्‍टोइनिस ने फेंका, इसमें आठ रन बने. आखिरी के तीन ओवर में भारत को 44 रन की जरूरत थी.पीटर सिडल की ओर से फेंका गया पारी का 46वां ओवर भारत के लिए अच्‍छा रहा. सिडल ने इस ओवर में दो वाइड फेंकी, जाधव के चौके सहित इस ओवर में 11 रन बने.47वां ओवर रिचर्डसन ने फेंका जिसमें भारतीय बल्‍लेबाज केवल छह रन बना पाए. इसी ओवर में भारत के 200 रन पूरे हुए. अंतिम तीन ओवर में जरूरत 27 रन की थी.48वां ओवर स्‍टोइनिस ने फेंका, जिसकी पहली गेंद पर जाधव रन आउट होते-होत बचे. इस ओवर में धोनी और जाधव ने एक-एक चौका लगाया, ओवर में 13 रन बने. इसी ओवर में जाधव ने अर्धशतक पूरा किया, उन्‍होंने 52 गेंदों का सामना करते हुए पांच चौके लगाए. आखिरी के ओवरों में जोरदार बल्‍लेबाजी करते हुए धोनी-जाधव की जुगलबंदी ने छह गेंद शेष रहते भारत को जीत तक पहुंचा दिया. विजयी चौका केदार जाधव के बल्‍ले से निकला.
विकेट पतन: 15-1 (रोहित, 5.6), 59-2 (धवन, 16.2), 113-3 (कोहली, 29.6)

ऑस्‍ट्रेलियाई पारी: कुलदीप के 'छक्‍के' के आगे मेजबान टीम पस्‍त
पहले बैटिंग के लिए उतरी ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय गेंदबाजी की शुरुआत भुवनेश्‍वर कुमार ने की. पहले ओवर में केवल एक रन बना. दूसरे ओवर में शमी के खिलाफ एलेक्‍स कैरी ने पारी की पहली बाउंड्री लगाई.अगले ओवर में भुवनेश्‍वर ने टीम को पहली कामयाबी दिलाते हुए एलेक्‍स कैरी (5) को दूसरे स्लिप में कोहली से झिलवा दिया. पांच ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर एक विकेट खोकर 11 रन था. कैरी की जगह आए उस्‍मान ख्‍वाजा ने शमी की गेंद पर चौका लगाकर खाता खोला.पारी के सातवें ओवर में फिंच ने हाथ दिखाते हुए भुवनेश्‍वर को लगातार दो चौके लगाए. ओवर में 10 रन बने. फिंच (14) का विकेट आखिरकार भुवनेश्‍वर के ही खाते में गया. वे नौवें ओवर में LBW हो गए.10 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर दो विकेट खोकर 30 रन था.11वें ओवर में विजय शंकर और 12वें ओवर में ऑफ स्पिनर केदार जाधव को आक्रमण पर लाया गया. दोनों ओपनरों को गंवाने के बाद ख्‍वाजा और शॉन मार्श का ध्‍यान विकेट बचाने पर केंद्रित हो गया था और ऐसे में रन गति धीमी हो गई थी. 15 ओवर के बाद स्‍कोर दो विकेट खोकर 45 रन था.16वें ओवर में केदार जाधव की गेंद पर धोनी के हाथों से शॉन मार्श का कैच छूटा.ऑस्‍ट्रेलिया के 50 रन 16.3 ओवर में शॉन मार्श के चौके के साथ पूरे हुए.रायुडू की जगह टीम में लिए गए जाधव गेंदबाजी में महंगे साबित हो रहे थे, उनके पांचवें ओवर में मार्श ने दो चौके सहित 15 रन बने. 24वें ओवर में गेंदबाजी के लिए आए लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने 'सेट' हो चुके शॉन मार्श और उस्‍मान ख्‍वाजा को आउट करके मैच की तस्‍वीर बदल दी. मार्श (39) को चहल की गेंद पर एमएस धोनी ने गजब की फुर्ती दिखाते हुए स्‍टंप किया. ऑस्‍ट्रेलिया अभी इस सदमे से उबर भी नहीं पाया था कि चौथी गेंद पर चहल ने ख्‍वाजा (34) को अपनी ही गेंद पर कैच कर लिया. 25 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर चार विकेट खोकर 105  रन था.

क्रीज पर अब दो नए बल्‍लेबाज हैंड्सकोंब और स्‍टोइनिस थे.प्‍लेइंग इलेवन में जगह मिलने को यादगार बनाते हुए चहल ने जल्‍द ही मार्कस स्‍टोइनिस (10)को भी पवेलियन लौटा दिया. कैच रोहित शर्मा नेपकड़ा. 30 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर पांच विकेट खोकर 124  रन था.ऑस्‍ट्रेलिया के 150 रन 34 ओवर में मैक्‍सवेल के चौके के साथ पूरे हुए. 35वें ओवर में शमी ने मैक्‍सवेल (26 रन, 19 गेंद, पांच चौके ) को आउट कर दिया. हालांकि इस विकेट का श्रेय भुवनेश्‍वर कुमार के बेहतरीन कैच को जाता है जिन्‍होंने लंबी दौड़ लगाते हुए इस ऊंचे कैच को लपका.35 ओवर के बाद स्‍कोर छह विकेट पर 162 रन था. ऑस्‍ट्रेलिया को अब हैंड्सकोंब से ही उम्‍मीद थे जो अर्धशतक की ओर बढ़ रहे थे. 40 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर छह विकेट खोकर 190 रन था. हैंड्सकोंब का अर्धशतक 57 गेंदों पर दो चौकों की मदद से पूरा हुआ.चहल ने मैच में शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए रिचर्डसन (16) को केदार जाधव के हाथों कैच करा दिया, यह पारी में उनपका चौथा विकेट रहा.45 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर सात विकेट खोकर 216 रन था.चहल ने ऑस्‍ट्रेलिया के आखिरी स्‍थापित बल्‍लेबाज पीटर हैंड्सकोंब (58 रन, 63 गेंद, दो चौके) को LBW करके पारी में अपने पांच विकेट पूरे किए. इसके बाद उन्‍होंने जाम्‍पा (8) को भी आउट करते हुए अपने छह विकेट पूरे किए. ऑस्‍ट्रेलिया का आखिरी विकेट बिली स्‍टेनलेक (0)के रूप में गिरा, जिन्‍हें शमी ने बोल्‍ड किया. भारत के लिए चहल ने छह विकेट लिए जबकि भुवनेश्‍वर और शमी के खाते में दो-दो विकेट आए. चहल का यह प्रदर्शन ( 6/42) वनडे में अजीत आगरकर के साथ ऑस्‍ट्रेलिया में किसी भारतीय गेंदबाज का सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन है.

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com