-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

बिजली मीटर वाचकों के हड़ताल पर जाने से उपभोक्ता हो रहे परेशान दो माह से हर एक उपभोक्ता के पास नही पहुँच रहे बिजली के बिल

बिजली मीटर वाचकों के हड़ताल पर जाने से उपभोक्ता हो रहे परेशान

दो माह से हर एक उपभोक्ता के पास नही पहुँच रहे बिजली के बिल

शहडोल / प्रदीप मिश्रा - 8770089979

 बिजली मीटर वाचकों के हड़ताल पर चले जाने से बिजली उपभोक्ताओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है आपको बता दें कि मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अंतर्गत विगत 18 वर्षों से कार्यरत बिजली मीटर वाचक अपनी जायज मांग बिजली विभाग में संविलियन एवं नियमितीकरण को लेकर विगत 2 माह से काम बंद हड़ताल पर हैं हड़ताल पर चले जाने से बिजली विभाग की बिल वितरण एवं मीटर रीडिंग की व्यवस्था पूरी तरह चरमरा चुकी है ना तो विभाग द्वारा समय पर बिजली बिल बांटा जा रहा है और ना ही मीटर की रीडिंग हो पा रही है वर्तमान में अनूपपुर जिले सहित शहडोल एवं उमरिया में  बिजली उपभोक्ता बिजली बिल समय पर नहीं पा रहा है और विलंब शुल्क के साथ उसे भुगतान करना पड़ रहा है आपको बताते चलें की वर्तमान में पूर्व क्षेत्र बिजली कम्पनी द्वारा दक्षता एप्प के माध्यम से फोटो मीटर रीडिंग करना सुनिश्चित किया गया है परन्तु विगत दो माह से बिजली विभाग के कर्मचारियों के द्वारा विगत माह में लिए हुए रीडिंग को देख कर 10 या 20 यूनिट बड़ा कर  मोबाइल एप्लिकेशन पर अपलोड कर या मीटर डिफेक्ट कर या तो शून्य यूनिट का बिल या फिर औसत खपत 55 या 77 यूनिट का बिजली बिल उपभोक्ताओं को भेज दिया जा रहा है जबकि हकीकत में  उपभोक्ताओं के घर पर मीटर में रीडिंग बढ़ती ही जा रही और अंत मे उपभोक्ता को औसत राशि सहित मीटर में लगातार बढ़ रहे रीडिंग दोनो की राशि भरने पर मजबूर हो रहा है जिससे बिजली उपभोक्ताओं को अनाप शनाप बढ़े हुए बिजली बिल आ रहे है साथ ही बिजली विभाग के अचानक एक तुगलकी फरमान सुना कर मेनुवल बिजली बिल जमा काउंटर बंद करवा कर ऑनलाइन बिल जमा करने हेतु निर्देशित कर सी.ए.सी सेंटर खोलवाये गए परन्तु उन सेंटरों में भी उपभोक्ताओं को बिजली बिल जमा करने पर प्रति बिल-5₹ से 10₹ लिए जा रहे है जिससे यह प्रतीत होता है कि बिजली विभाग के द्वारा बिजली उपभोक्ताओं को लाखों रुपयों की चपत लगाया जा रहा है एवं भारी अनियमितता की जा रही है एवं सीधे तौर पर बिजली उपभोक्ता इन अनियमितता के कारण काफी परेशानियों का सामना कर रहा एवं किसानों व व्यपारियो को भी आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है|यदि जल्द से जल्द विभाग की इस लापरवाही को खत्म नही किया गया तब वह दिन दूर नही जब आम बिजली उपभोक्ता एवं किसान अपनी समस्या को लेकर बिजली विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय व अधिकारियों के विरुद्ध आक्रोशित हो कर आंदोलन पर मजबूर होंगे|

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com