-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

अवैध उत्खनन में जा रही जाने प्रशासन मौन बिजुरी पत्थर खदान में हुई मौत पर हो रही लीपापोती


अवैध उत्खनन में जा रही जाने प्रशासन मौन


बिजुरी पत्थर खदान में हुई मौत पर हो रही लीपापोती

अनूपपुर /प्रदीप मिश्रा / 8770089979

जिला खनिज अधिकारी और जिले के राजस्व अधिकारियो के सांठ गाँठ से जिले में अवैध उत्खनन जोरो पर चल रही है उत्खनन में लगे मजदूरो का गाहे बगाहे यदि मामला दुर्घटना पूर्ण प्रकाश में आता है तो सम्बंधित थाना भी माफियाओ को संरक्षण देने में कोई कसर नहीं छोड़ता जिसका जीता जागता प्रमाण जनवरी में घटित हुई बिजुरी नगरपालिका के अवार्ड नम्बर 7 अर्जुन घाट में शिवचरण कोडाकू पिता हीरालाल कोडाकू के रूप में प्रकाश में आई और अभी तक पुलिस एक ही व्यक्ति पर मामला कायमी कर पुरे प्रकरण में घालमेल कर दिया है | घटनाक्रम को शिलशिलेवर जानने के लिए जब मौके वारदात स्थल पर मौके मुयाना किया तो घटना स्थल के बगल में एक और खदान चल रही थी जिसके बारे में बताया गया की बिजुरी के एक बड़े सेठ जो गणेश सिंह निवासी दलदल खसरा नम्बर 54/55 पर लगभग 2 हेक्टेयर से अधिक भूमि पर खनिज विभाग से 2012 से 2022 तक लीज ले रखा है लेकिन समझ में नहीं आता की एसईसीएल की भूमि पर इन्हें लीज कैसे मिल गया और वर्षों से एसईसीएल कंपनी अपनी जमीन पर उत्खनन होते देख कैसे चुप्पी साधी है,बड़ी हैरत करने वाली बात है की जिस खदान में पत्थर तोड़ते वक्त शिवचरण मरा है इन दोनों पत्थर खदानों का बोल्डर एक ही सेठ जी के क्रेशर में जाता हैं जिसको अर्जुन घाट के रहवासी वर्षों से सेठ जी की सेवा करते आ रहे है सेठ परिवार एक तरफ धर्म कर्म की बात करते है तो दूसरी तरफ अर्जुन घात आकर देखे तो गरीब मजदूरो का शोषण भी खूब करते दिखाई देंगे हैअरण करने वाली बात है की गणेश सिंह के पास कही भी कोई क्रेसर नहीं है तो उन्हे किस काम को लेकर जिला प्रशासन 10 वर्षों का उत्खनन करने का लाईसेंस दे रखा है गणेश सिंह के घर जाने पर ऐसा लगता है की गणेश सिंह सेठ का मोहरा है और जिले में बैठे अधिकारी उत्खनन का मजा लूट रहे है राजस्व विभाग का हल्का पटवारी को लेकर सम्बंधित मामले पर क्या कार्यवाही जिला कलेक्टर महोदय द्वारा क्या कार्यवाही किया है यह भी समझ से परे है १० एकड़ से ऊपर के परिक्षेत्र में अवैध उत्खनन चल रहा है और सभी लोग मौन है मामला और प्रकाश में आने के बाद पुलिस अपने फायदे के लिए कानून को ताक में रखते दिखाई दे रही है जो अचंभित सा करता है और सवालिया निशान भी खड़ा करता है यह की अवैध उत्खनन कर माल आरोपी किस क्रेसर को बेचा था खरीददार कौन था माल परिवहन में कौन सा ट्रैक्टर या साधन लगे थे उसका नम्बर क्या था उसका मालिक कौन था उन सम्बंधित व्यक्तियों का व्यान लिया गया या नहीं लिया गया इन सवालों पर पुलिस कोई जबाब नहीं दे पा रही है बिजुरी थाना प्रभारी राधिका प्रसाद द्विवेदी ने बताया की मोई मिया है जिसपर 304 A का मुकदमा कायम किया हू अपराध क्रमांक अभी पता नहीं है डायरी देखकर बताऊंगा अभी सरकारी कार्यक्रम में हू

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com