-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

सपाक्स का प्रान्तीय सम्मेलन कल, संस्था की मान्यता सहित अन्य मुद्दों पर होगी चर्चा




भोपाल : सामान्य, पिछड़ा व अल्पसंख्यक वर्ग अधिकारी कर्मचारी संस्था (सपाक्स) एवं सामान्य, पिछड़ा व अल्पसंख्यक कल्याण समाज संस्था (सपाक्स समाज) तथा सपाक्स युवा ईकाई का संयुक्त प्रांतीय सम्मेलन कल दिनांक 3.02.2019 को आयोजित है।

सपाक्स संस्था सचिव श्री राजीव खरे ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों से उक्त संस्थाओं के जिला पदाधिकारी एवं युवा ईकाई पदाधिकारी नार्मदीय मंदिर भवन, 2 न स्टॉप, तुलसीनगर भोपाल में एकत्रित होकर सामान्य, पिछड़ा व अल्पसंख्यक वर्ग के शासकीय सेवकों, समाज एवं समाज के युवाओं की समस्याओं और उनके निराकरण हेतु कार्ययोजना पर विचार करेंगे।

संस्था विगत 3 वर्षों से शासकीय सेवकों के साथ समाज व युवाओं के हित में लगातार संघर्षशील है। संस्था के जन जागरूकता प्रयासों से ही यह संभव हुआ है कि प्रदेश और केंद्र सरकार को ऐसे कई नीतिगत बदलावों के लिए बाध्य होना पड़ा है जिन पर सामान्यत: सरकारों ने पूर्व में कभी ध्यान नहीं दिया था।

दोनों संस्थाएं एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में भी संघर्ष करती रही है। दिनांक 1 फरवरी को इसी कड़ी में प्रदेश भर में डॉ शिवम् मिश्रा, जो इस एक्ट के शिकार होकर असमय काल के गाल में समा जाने को मजबूर हुए, के लिए श्रद्धांजलि सभाएं व विरोध प्रदर्शन किए गए। इसके पूर्व भी संस्थाओं के सहयोग से ही प्रदेश में 6 सितंबर 18 को अभूतपूर्व शांतिपूर्ण बंद का आयोजन एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में किया गया था।

संस्था सपाक्स वर्ग के शासकीय सेवकों को राज्य सरकार के "पदोन्नति में आरक्षण" के असंवैधानिक एवं भेदभाव युक्त नियमों से हो रहे शोषण के विरुद्ध भी लगातार संघर्ष कर रही है। पूर्व सरकार पूरी तरह एकपक्षिय रहकर इस वर्ग का अहित करती रही। संस्था सरकार और न्यायालय दोनों मोर्चों पर न्याय के लिए लड़ रही है। संस्था नई सरकार से अपेक्षा करती है कि वह समभाव से अपने अधीनस्थ शासकीय सेवकों से व्यवहार करेगी।

सपाक्स वर्ग के युवाओं से शासकीय नीति में किए जा रहे भेदभाव के कारण न सिर्फ शिक्षा बल्कि रोजगार की दृष्टि से युवा लगातार प्रताड़ित हैं। इन सभी बिंदुओं पर सघन विमर्श कर सम्मेलन में अग्रिम रणनीति तैयार कर भविष्य में गतिविधियां प्रदेशभर में की जावेगी।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com