-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

कुम्भ का आज अंतिम शाही स्नान, लोगों ने लगाई गंगा मैया में डुबकी




प्रयागराज (इलाहाबाद) : कुंभ मेले का आज तीसरा और अंतिम शाही स्नान है। वसंत पंचमी के पवित्र मौके पर मध्यरात्रि से श्रद्धालुओं ने त्रिवेणी में स्नान शुरू कर दिया। शाही स्नान के लिए सुबह सबसे पहले श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी और श्री पंचायती अटल अखाड़ा अपने शिविर से निकले। हर-हर महादेव, जय श्रीराम के उद्घोष के साथ दोनों अखाड़ों के संत कतारबद्ध होकर संगम पहुंचे। सुबह 6:15 बजे महानिर्वाणी और अटल अखाड़ा के संतों ने संगम घाट पर तीसरा शाही स्नान किया। इसके बाद श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा, तपोनिधि श्री पंचायती आनंद अखाड़ा, जूना, आवाहन और अग्नि अखाड़ा के संतों ने शाही स्नान किया। भोजपुरी फिल्म स्टार व भाजपा सांसद मनोज तिवारी भी संगम पहुंचे हैं।

मेला प्रशासन का दावा है कि सुबह नौ बजे तक 50 लाख श्रद्धालुओं ने स्नान किया है। आज तीन करोड़ श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाएंगे, ऐसी संभावना है। अब निर्वाणी अनि, दिगंबर, श्री पंच निर्मोही अनि, श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन, श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन और सबसे अंत में श्री पंचायती अखाड़ा निर्मला के साधु-संत स्नान के लिए संगम के घाट पर पहुंचेंगे। सभी अखाड़ों को अमरत्व स्नान के लिए 40-40 मिनट का समय दिया गया है। स्नान के लिए 41 घाट तैयार किए गए हैं।

मेला प्रशासन ने घाटों पर स्नान के लिए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए हैं। जाल के साथ बैरीकेडिंग की गई है। पैरा मिलिट्री की 15 कंपनियां, आरएएफ, बीएसएफ, सीआरपीएफ, एसएसबी, आईटीबीपी और अन्य अर्धसैनिक बलों की 37 कंपनियां तैनाती की गई हैं। एनडीआरएफ की 11 कंपनियां मुस्तैद हैं। होमगार्ड के 12 हजार जवानों को भी ड्यूटी पर लगाया गया है। 111 घुड़सवार पुलिस घाटों से लेकर संगम तक निगरानी कर रहे हैं।


कल तक वाहनों पर रोक
शहर में नौ फरवरी की रात 12 बजे से दोपहिया वाहनों की आवाजाही पर रोक रहेगी। इसके अलावा आठ से 11 फरवरी तक चार पहिया वाहन भी नहीं चलेंगे। उधर, मेला क्षेत्र में जरूरी वाहनों को छोड़कर अन्य वाहनों का प्रवेश शुक्रवार सुबह आठ बजे से ही रोक दिया गया है। जिले में भारी कमर्शियल वाहनों का प्रवेश 8 फरवरी की सुबह 5 बजे से 12 फरवरी की रात 11 बजे तक प्रतिबंधित रहेगा।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com