-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

बिजली मीटर वाचकों के हड़ताल पर जाने से उपभोक्ता हो रहे परेशान पहल ठेकेदार द्वारा गली या फिर नालों में बाटे जा रहे बिजली बिल पहल ठेकेदार द्वारा बिजली ऑफिस में खराब मीटर रख फोटो खींच कर की जा रही मीटर रीडिंग


बिजली मीटर वाचकों के हड़ताल पर जाने से उपभोक्ता हो रहे परेशान

पहल ठेकेदार द्वारा गली या फिर नालों में बाटे जा रहे बिजली बिल

पहल ठेकेदार द्वारा बिजली ऑफिस में खराब मीटर रख फोटो खींच कर की जा रही मीटर रीडिंग

अनूपपुर / प्रदीप मिश्रा - 8770089979

बिजली मीटर वाचक के हड़ताल पर चले जाने से बिजली उपभोक्ता को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है आपको बता दें कि विगत 6 माह पूर्व शहडोल संभाग(वृत्त) के अधीक्षण अभियंता के द्वारा मीटर रीडिंग एवं बिल वितरण कार्य 'पहल नाम के ठेकेदार' को टेंडर दे दिया गया जो कि कार्यरत मीटर वाचकों के विरुद्ध है जिसका भी विरोध वर्तमान मीटर रीडर  करते हुए माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर में अपनी याचिका दायर किया जिस याचिका में राहत भी प्रदान की गई एवं दिशा निर्देश दिया गया कि आप वर्तमान में श्रम न्यायालय में इस याचिका को लगाएं तत्पश्चात माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों का भी अवहेलना करते हुए शहडोल वृत्त के अधीक्षण अभियंता द्वारा कुछ क्षणिक  लाभ के लिए पहल नाम के ठेकेदार को टेंडर सौंप दिया गया , जबकि बिजली विभाग के अंतर्गत कार्य कर रहे मीटर वाचकों के केश माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर में विचाराधीन है|
ततपश्चात मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अंतर्गत विगत 18 वर्षों से कार्यरत बिजली मीटर वाचक अपनी जायज मांग वर्तमान टेंडर के विरुद्ध व बिजली विभाग में संविलियन एवं नियमितीकरण को लेकर विगत 2 माह से काम बंद हड़ताल पर हैं हड़ताल पर चले जाने से बिजली विभाग की बिल वितरण एवं मीटर रीडिंग की व्यवस्था पूरी तरह चरमरा चुकी है ना तो विभाग द्वारा समय पर बिजली बिल बांटा जा रहा है और ना ही मीटर की रीडिंग हो पा रही है वर्तमान में अनूपपुर जिले सहित शहडोल एवं उमरिया जिले में यह परिस्थिति है पहल ठेकेदार के लड़कों के  द्वारा बिजली बिल का बंडल बना कर किसी गली में या नालों में फेंका हुआ या फिर वितरण केन्द्रों में ही पड़े हुए देखा जा रहा है जिससे बिजली उपभोक्ता बिजली बिल समय पर नहीं पा रहा है और विलंब शुल्क के साथ उसे भुगतान करना पड़ रहा है आपको बताते चलें की वर्तमान में पूर्व क्षेत्र बिजली कम्पनी द्वारा दक्षता एप्प के माध्यम से फोटो मीटर रीडिंग करना सुनिश्चित किया गया है परंतु बिजली विभाग के अधिकारियों और पहल ठेकेदार द्वारा साठ-गांठ कर विभाग को लाखों का चूना लगाया जा रहा है साथ ही बिजली उपभोक्ताओं को भी बिजली बिल में विलंब शुल्क दे कर भरपाई करनी पड़ रही है जिससे आम बिजली उपभोक्ताओं से भी लाखों रुपये बेवजह वसूला जा रहा है
 विगत दो माह से बिजली विभाग एवं पहल ठेकेदार के साठ -गांठ कर  उपभोक्ताओं के घर- घर न जा कर 15 से 20 खराब बिजली मीटर वितरण केंद्रों में रख कर मोबाइल एप्प के जरिये एक एक कर फोटो खींच कर व विगत माह में लिए हुए रीडिंग को देख कर 10 या 20 यूनिट बड़ा कर एप्लिकेशन पर अपलोड कर या मीटर डिफेक्ट कर या तो शून्य यूनिट का बिल या फिर औसत खपत 55 या 77 यूनिट का बिजली बिल उपभोक्ताओं को भेज दिया जा रहा है जबकि हकीकत में  उपभोक्ताओं के घर पर मीटर में रीडिंग बढ़ती ही जा रही और अंत मे उपभोक्ता को औसत राशि और मीटर में लगातार बढ़ रहे रीडिंग दोनो राशि भरने पर मजबूर हो रहा है  जिससे यह प्रतीत होता है कि बिजली विभाग के अधिकारियों एवं पहल ठेकेदार द्वारा दोनो के बीच साठ-गांठ कर विभाग सहित बिजली उपभोक्ताओं को भी लाखों रुपयों की चपत लगाया जा रहा है एवं भारी अनियमितता की जा रही है एवं सीधे तौर पर बिजली उपभोक्ता इन अनियमितता के कारण काफी परेशानियों का सामना एवं किसानों व व्यपारियो को भी आर्थिक तंगी का सामना कर रहा है|

यदि जल्द से जल्द लापरवाही पूर्वक कार्य कर रहे पहल ठेकेदार का ठेका निरस्त नही किया गया तब व दिन दूर नही जब आम बिजली उपभोक्ता एवं किसान अपनी समस्या को लेकर बिजली विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय व अधिकारियों के विरुद्ध आक्रोशित हो कर आंदोलन पर मजबूर होंगे

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com