-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

सहायक अभियंता के सह पर चल रहे फर्जी फोटो मीटर रीडिंग मामला विधुत वितरण केंद्र बिजुरी में पहल ठेकेदार द्वारा की जा रही फर्जी मीटर रीडिंग बिजली अधिकारियों के सह पर संभाग के तीनों जिलों में चल रहे फर्जी रीडिंग

सहायक अभियंता के सह पर चल रहे फर्जी फोटो मीटर रीडिंग

मामला विधुत वितरण केंद्र बिजुरी में पहल ठेकेदार द्वारा की जा रही फर्जी मीटर रीडिंग

बिजली अधिकारियों के सह पर संभाग के तीनों जिलों में चल रहे फर्जी रीडिंग

अनूपपुर । प्रदीप मिश्रा -8770089979

शहडोल संभाग के अनूपपुर जिले में विधुत वितरण केंद्र बिजुरी में एक बार फिर फर्जी फोटो मीटर रीडिंग का मामला सामने आया है विगत 6 माह से शहडोल संभाग अंतर्गत अनूपपुर, शहडोल व उमरिया जिले में बिजली बिल वितरण एवं स्मार्ट फोटो मीटर रीडिंग का ठेका पहल नाम के ठेकेदार को अधीक्षक यंत्री शहडोल के द्वारा क्षणिक लाभ के लिए दे दिया गया था जिसका खामियाजा विगत 6 माह से तीनों जिलों के गरीब ,किसान परिवार से आने वाले बिजली उपभोक्ताओं को अनाप शनाप बढ़े बिजली बिल आने पर भुगतना पड़ रहा है जिस समस्या से न तो कोई जिले के बिजली अधिकारी और न ही सत्ताधारी जनप्रतिनिधि निजात दिलाने को तैयार है आपको बता दे की ऐसा ही एक मामला अनूपपुर जिले के अधीक्षण यंत्री के नाक के नीचे अनूपपुर के सहायक अभियंता के सह पर  पिछले माह विधुत वितरण केंद्र अनूपपुर में पहल ठेकेदार को बचाने के लिए विभागीय संविदा लाइन कर्मचारियों से दबाव देकर खराब मीटर रख फर्जी फ़ोटो मीटर रीडिंग कराने का मामला प्रकाशित हुआ था जिस पूरे मामले पर अभी तक  अधीक्षण यंत्री ने न तो सहायक अभियंता पर और न ही फर्जी फोटो मीटर रीडिंग करते प्रकाशित हुए लाइन कर्मचारियों पर कोई पूछ ताछ हुई और न ही कोई विभागीय कार्यवाही की गई अब पुनः ऐसा ही मामला विधुत वितरण केंद्र बिजुरी में पहल ठेकेदार के लड़के के द्वारा ऑफिस में ही खुलेआम दो चार खराब मीटर रख कर मोबाइल एप्प के माध्यम से बैठकर स्मार्ट फोटो रीडिंग कर खाना पूर्ति की जा रही है जिसका खामियाजा आम गरीब बिजली उपभोक्ताओं को आने वाले माह में बिजली के बिल में अनाप शनाप बड़े राशि को पा कर भुगतना पड़ेगा जबकि विभाग द्वारा ठेकेदार को निर्देशित किया गया है कि हर एक घरों में जा कर मोबाईल एप्प के जरिये वास्तविक मीटर की रीडिंग का फोटो खींच कर एप्प के माध्यम से अपलोड कर एवं बिजली के बिल हर घर जा कर दिया जाना सुनिश्चित किया गया है परंतु जिले के बिजली अधिकारी और पहल ठेकेदार के आपसी संबंधों के कारण जमीनी हकीकत इससे उल्टा साबित हो रहा है अब देखना यह है कि आखिर पहल ठेकेदार व बिजली अधिकारियों के मिलीभगत कर कमीशन के चक्कर से क्या गरीब बिजली उपभोक्ताओं के समस्याओं को कमलनाथ सरकार में बने क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि निजात दिला पाएंगे या फिर अंतिम विकल्प गरीब किसान परिवार से आने वाले बिजली उपभोक्ताओं को लूटते रहना ही वर्तमान सरकार का खोखला वचन पत्र साबित होगा|

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com