-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

आईजीएनटीयू ने शुरू किया पौधारोपण अभियान केवीके के निर्देशन में जुटे हैं ग्रामीण और कर्मचारी कबीर फलोद्यान में 101 फलदार वृक्ष लगाए गए दो हजार से अधिक पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया

आईजीएनटीयू ने शुरू किया पौधारोपण अभियान
 केवीके के निर्देशन में जुटे हैं ग्रामीण और कर्मचारी
कबीर फलोद्यान में 101 फलदार वृक्ष लगाए गए
 दो हजार से अधिक पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया

अनूपपुर / अमरकटंक / प्रदीप मिश्रा - 8770089979


मानसून प्रारंभ होने के साथ ही इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय परिवार ने पौधारोपण का बीड़ा उठा लिया है। कृषि विज्ञान केंद्र (केवीके) के निर्देशन में ग्रामीण, शिक्षक, छात्र, एनसीसी के कैडेट्स और एनएसएस के स्वयंसेवक पौधारोपण और बीजारोपण के कार्य में जुटे हैं। इस बार कैंपस के साथ ही आसपास के पहाड़ी क्षेत्रों में भी हरियाली क्षेत्र को बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। विश्वविद्यालय परिसर में ही दो हजार से ज्यादा पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। केवीके प्रमुख डॉ. एस.के. पांडे ने बताया कि एक जुलाई से प्रारंभ हुए इस अभियान में सबसे पहले केवीके के विषय विशेषज्ञों और स्टॉफ के निर्देशन में केवीके की खेतों की मेड़ों पर मृदा संरक्षण और छाया के लिए करंज के 250 से अधिक बीज वैज्ञानिक विधि के अनुरूप रोपे गए। दूसरे चरण में केवीके के निर्देशन में ही लालपुर के पहाड़ी क्षेत्रों में ग्रामीणों, छात्रों और स्टॉफ की मदद से करंज के 1500 से अधिक बीजों का रोपण किया गया। केवीके इनके पौध बनने और इसके बाद इन्हें संरक्षित रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। विषय विशेषज्ञ (कृषि प्रसार) और कार्यक्रम प्रभारी संदीप चैहान ने बताया की पौधारोपण जागरूकता कार्यक्रम 1 से 6 जुलाई तक विश्वविद्यालय, गांवों के प्राथमिक विद्यालयों और निकटवर्ती ग्रामों में मनाया जा रहा है। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य पौधारोपण को प्रोत्साहित करना है। इसके अंतर्गत प्रमुख रूप से करंज, पलाश और जामुन के बीजों का रोपण और फलदार पौधों के रोपण को बढ़ावा दिया जाना है। विषय विशेषज्ञ (कृषि वानिकी) योगेश कुमार ने बताया कि पलाश का पौधा मृदा क्षरण को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है तथा करंज का पौधा मृदा क्षरण को रोकने के साथ-साथ औषधीय गुणों से संपन्न होता है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ. अनिता ठाकुर, सूर्यकान्त नागरे, अनिल कुर्मी, एस.के. राठौर, मोहित आदि उपस्थित थे।इसके अलावा विश्वविद्यालय के बागवानी विभाग के अनिल सिंह गहरवार के निर्देशन में शिक्षक, कर्मचारी और छात्र भी पौधारोपण में जुटे हैं। विश्वविद्यालय परिसर स्थित कबीर फलोद्यान में कुलपति प्रो. टी.वी. कटटीमनी के निर्देशन में 101 फलदार पौधे लगाए जा चुके हैं। इसमें मौसमी, आम, कटहल और रूद्राक्ष के पौधे शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इस बार दो हजार से ज्यादा फलदार पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है जिन्हें वैज्ञानिक कृषि पद्धति से विकसित किया जाएगा। प्रयास किया जा रहा है कि इसे निकटवर्ती किसानों के लिए मॉडल के रूप में बनाया जाए।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com