-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

पत्रकार प्रदीप मिश्रा व उनके गवाहों पर 107.116(3) की कार्यवाही क्यों पत्रकार प्रदीप मिश्रा के गवाहों पर बनाया जा रहा है दबाव

पत्रकार प्रदीप मिश्रा व उनके गवाहों पर 107.116(3) की कार्यवाही क्यों

पत्रकार प्रदीप मिश्रा के गवाहों पर बनाया जा रहा है दबाव

अनूपपुर/ 

इन दिनांे पत्रकारों पर हमला आम बात होते जा रही है पत्रकार जब निडर होकर कोई कार्य करता है तो उसे दबाने का व उलझाने का प्रयास किया जाता है हाल ही में अनूपपुर जिले के चचाई थाना अन्तर्गत पत्रकार को पीटने व गाली गलौज व जान से मारने का मामला सामना आया था पत्रकार द्वारा बरगवां पंचायत का भ्रष्टाचार काॅफी लम्बे समय से उठाया जाता रहा है बरगवां में एक बहुचर्चित शौंचालय घोटाला हुआ जिसमें शौंचालय बिना बने ही 72 लाख का घोटाला किया गया ज्ञात हो कि इस मामले को पत्रकार प्रदीप मिश्रा द्वारा उठाया गया तब खबरों में सुर्खियां बनने के बाद शासन प्रषासन ने सक्रियता दिखाते हुये मामले की जांच करा 14 लाख 38 हजार की रिकवरी की कार्यवाही की वहीं बरगवां सरपंच रूनिया बाई को पद से हटाते हुये 6 साल के लिए निर्वाचन प्रक्रिया से दूर रहने के आदेष दिये व सचिव को उसके पद से हटा दिया गया तब सरपंच रूनिया बाई कोर्ट से स्टे लेकर पुनः पद में बैठ गई रिकवरी की रकम भरने का कोर्ट से 3 महीने का आदेष मिला और रिकवरी राषि की कई नोटिस जारी हुई पर रकम जमा नही हुआ पत्रकार द्वारा इस मामले को लेकर आवाज उठाने का कार्य किया गया दिनांक 01.07.2019 को अंतिम नोटिस जारी हुआ जिसमें 4 तारीख को रकम भरने का आदेष जारी हुआ रकम न भरने पर कानूनी कार्यवाही करने की नोटिस जारी हुई वहीं रकम भरने के लिए सरपंच द्वारा कई कार्यो में लीपापोती कर रिकवरी भरने का जुगाड बनाया गया जिसमें सर्वजनिक चबूतरा निर्माण जो कि वार्ड क्रमांक 08 में बनाया गया जहां फर्स बनाया गया उस पर 5 लाख आहरित हुआ जिस पर लोगों ने आवाज उठाया कि यहां आस्था व भगवान के नाम पर भी घोटाला किया गया है खबरों के माध्यम से जिला व जनपद सीईओ को जब रिकवरी का नोटिस जारी करने की बात गई उसी समय चबूतरा निर्माण में हुये घोटाले की षिकायत की गई दिनांक 02.07.2019 को जिला पंचायत से 3 सदस्यी टीम जांच में आई जहां प्रदीप मिश्रा को बुलाया गया जांच टीम जांच कर डायरी लेकर पंचायत जा रहे थे तभी पीछे से आकर पत्रकार पर सरपंच रूनिया बाई ने हमला किया वहींे थप्पड मारते हुये चस्मा निकाल कर अभद्र गालियां दी गई व बोला गया कि तू उपर तक गया है तेरी ऐसी तैसी कर दूंगी पत्रकार को जान से मारने का प्रयास किया गया मामले से सहमा हुआ पत्रकार ने थाने में जाकर रिपोर्ट दर्ज कराई सरपंच पर मुकदमा दर्ज किया गया वहीं सरपंच ने खुद को पाक साफ साबित करने के लिए झूठे मामले में फंसाने की कोषिष कि गई बताया जाता है कि  सरपंच रूनिया बाई द्वारा विगत वर्षो में कई लोगों को फंसाया गया है कोई भी अगर आवाज उठाता है उसे जबरन फसाने का प्रयास किया जाता है प्रदीप मिश्रा ने बताया कि मैं एक साफ छवि का व्यक्ति हूं आज तक मुझ पर थाने को कोई केस नही है विवाद खडा करना मेरा मकसद नही है भ्रष्टाचार को उजागर करना व लिखना मेरा काम है रूनिया बाई द्वारा पैसों वालों का सहारा लेकर मेरे गवाहों को जबरन परेषान किया जाता है अभी तहसील द्वारा जारी नोटिस में मेरे व मेरे गवाहों पर दबाव बनाने के लिए 107.116(3) की नोटिस भेजकर 18 जुलाई को पेषी में आने को कहा गया है बता दें की प्रदीप मिश्रा व उसके गवाहों पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है आखिर किस आधार पर यह कार्यवाही हुई है बताया जा रहा है कि यह जान बूझकर ऐसा किया गया है कि न्याय मांगने वाला न्याय ही न मांगें

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com