-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

आत्मा योजनांतर्गत क्रियान्वित कार्यों की कलेक्टर ने की समीक्षा कृषि विकास एवं कृषकों की आय में बढ़ोतरी हेतु सतत रूप से प्रयास करने के कलेक्टर ने दिए निर्देश


आत्मा योजनांतर्गत क्रियान्वित कार्यों की कलेक्टर ने की समीक्षा

कृषि विकास एवं कृषकों की आय में बढ़ोतरी हेतु सतत रूप से प्रयास करने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

अनूपपुर / प्रदीप मिश्रा - 8770089979

कलेक्ट्रैट सभागार में आयोजित आत्मा गवर्निंग बोर्ड की बैठक में कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने  योजनांतर्गत गत वर्ष में किए गए कार्यों की समीक्षा एवं आगामी वर्ष में कृषि विकास हेतु किए जाने वाले  प्रस्तावों पर चर्चा की। कलेक्टर द्वारा योजनांतर्गत किए जाने वाले भौतिक एवं वित्तीय लक्ष्यों की विस्तार से समीक्षा की गयी। इस दौरान कलेक्टर ने कहा क्षेत्र के अधिकांश निवासियों की आजीविका का साधन प्रमुख रूप से कृषि है। कृषि आधारित आय बढ़ाने के लिए आधुनिक तकनीकि एवं साधनो के प्रयोग के माध्यम से प्रति उत्पाद इकाई लागत को कम करना एवं अधिक उत्पाद सुनिश्चित करना आवश्यक है। कृषकों को उन्नत तरीकों की जानकारी प्रदान करने के साथ यह भी आवश्यक है कि उसका कृषि कार्य में वास्तविक रूप से प्रयोग किया जाए। इसलिए मैदानी अमले का क्षेत्र में सक्रिय रह किसानो से नियमित रूप से संवाद आवश्यक है। क्षेत्र में साधन की उपलब्धता भूमि की क्षमता एवं सिंचाई के साधनो की उपयुक्तता के आधार पर प्रयास होने चाहिए। कृषि के साथ सहायक कृषि उद्यमों पशुपालन, मुर्गीपालन, मत्स्यपालन, उद्यानिकी आदि में भी कृषकों की रुचि जागृत करना आवश्यक है। समग्र कृषि उपायों का प्रयोग समय की माँग है और इस दिशा सम्बंधित विभागों को एकजुट होकर प्रयास करना होगा। उप संचालक कृषि एन॰डी॰गुप्ता ने बताया कि विगत वित्तीय वर्ष में कृषि सुधार कार्यक्रम आत्मा अंतर्गत संचालनालय से प्राप्त लक्ष्यों के आधार पर गतिविधियों का क्रियान्वयन किया गया। आपने बताया उत्साही कृषकों का चयन कर मुझे आधुनिक कृषि तकनीक़ो का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। आपने बताया 100 कृषकों को राज्य के बाहर, 80 कृषकों को राज्य के अंदर एवं 430 कृषकों को जिले के अंदर भ्रमण करा आधुनिक तकनीकि से अवगत कराया गया। किसान कल्याण कार्यशाला में 400 कृषकों को कृषि सम्बंधी प्रशिक्षण एवं जानकारी प्रदान की गयी। आधुनिक तकनीकी के उपयोग से कृषि तरीकों के कृषकों के समक्ष 64 भौतिक प्रदर्शन किए गए। विगत वर्ष में अंतरराज्यीय 140, राज्य के अंदर 320, जिले के अंदर 200 कृषकों की इक्स्पोजर विजिट आयोजित हुईं। इसके अतिरिक्त 2 किसान वैज्ञानिक संवाद, 8 किसान संगोष्ठी एवं 12 फार्म फील्ड स्कूल का आयोजन हुआ। इसके अतिरिक्त उन्नत तकनीकी का प्रयोग कर अच्छा उत्पादन कर रहे प्रगतिशील कृषकों एवं समूहों को विकासखंड स्तर पर पुरुष्कृत किया गया है। उप संचालक कृषि ने बताया कि रबी फसलों में सिंचाई की समस्या से निजात पाने हेतु कृषकों के समक्ष हाइड्रोजेल का प्रयोग, सेम की खेती एवं धान हेतु जैविक खाद एवं पशु आहार हेतु प्रयोग में लाने हेतु एजोला उत्पादन का प्रदर्शन किया गया तथा अच्छे परिणाम प्राप्त किए गए। इस दौरान आपने आगामी वर्ष में किए जाने वाले प्रयासों समेत नवाचार बहपुरी में कोदो प्रॉसेसिंग यूनिट एवं फलदार पौधों के कृषकों को वितरण को गवर्निंग बोर्ड के समक्ष अनुमति हेतु प्रस्तुत किया।  बैठक में उप परियोजना संचालक आत्मा निशा सिन्हा, सहायक संचालक मत्स्य शिवेंद्र सिंह परिहार, सहायक संचालक उद्यानिकी बी॰डी॰नायर, सहायक संचालक पशु चिकित्सा सेवाएँ डॉ वाय॰सी॰दीक्षित समेत आत्मा गवर्निंग बोर्ड के सदस्य उपस्थित थे।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com