-->

MP ONLINE NEWS

Breaking News

सरकार परामर्श दाताओं के साथ कर रही हैं अन्याय:अध्यक्ष परामर्शदाताओं का उच्च विश्राम गृह में आयोजित की गई बैठक।

सरकार परामर्श दाताओं के साथ कर रही हैं अन्याय:अध्यक्ष

परामर्शदाताओं का उच्च विश्राम गृह में आयोजित की गई बैठक। 

अनूपपुर / प्रदीप मिश्रा -8770089979

मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत स्नातक पाठ्यक्रम वर्ष 2015-16 में प्रारंभ किया गया था। प्रदेश के 313 विकासखण्डों में जन अभियान परिषद के माध्यम से तथा 52 जिलों में महिला बाल विकास विभाग के द्वारा कक्षायें प्रारंभ की गयी थीं। जिसमें प्रत्येक विकासखण्ड और जिलों पर प्रतिवर्ष अधिकतम 40 ग्रामीण, उजार्वान सामाजिक कार्यो में रूचि रखने वाले 12 वीं पास युवाओं का चयन कर प्रवेश दिया गया। इस पाठ्यक्रम के माध्यम से प्रदेश में लगभग 40 हजार छात्र सीधे लाभान्वित होकर स्नातक डिग्री प्राप्त करने हेतु अध्ययनरत थे। परामर्श दाताओ के हित और शेष भुगतान के साथ पुनः अध्यापन कार्य मेंटरो से कराये जाने को लेकर संघ के अध्यक्ष राजकुमार पटेल ने बैठक मेंटरो की अनूपपुर उच्च विश्राम गृह में ली।उपस्थित मेंटरो ने अपने अपने विचार आगामी रणनीति तय करने को लेकर आवश्यक सुझाव दिया।
आप को बता दे मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के माध्यम से संचालित मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व विकास कार्यक्रम को लेकर सवाल खड़े हो गये हैं। परिषद की कार्यकारिणी समिति ने निर्णय लिया है कि पाठ्यक्रम का संचालन अब शासकीय महाविद्यालयों में किया जायेगा। इसके साथ ही पूर्व में पढ़ा रहे करीब 2 हजार मेंटरों की रोजी रोटी छीन गई है सरकार द्वारा दुर्भावना पूर्ण कारवाही की गई। जानकारी के अनुसार कांग्रेस सरकार आते ही राजनैतिक परिधि में मानते हुए द्वेष पूर्वक कार्यवाई करते हुए ।अध्यापन व्यवस्था बदलकर उच्च शिक्षा विभाग को दे दी गई है। निर्देश हुये हैं कि प्रदेश के 261 शासकीय महाविद्यालयों में इस पाठ्यक्रम के लिये महात्मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विवि चित्रकूट के अध्ययन केन्द्र के रूप में कार्य करेंगे।  अध्यापन कार्य अतिथि विद्वानों के माध्यम से कराया जायेगा लेकिन अतिथि विद्वान नहीं होने पर नियमित शिक्षक अध्यापन कार्य कर सकेंगे। परामर्शदाता संगठन मध्यप्रदेश ने नई व्यवस्था का विरोध किया है। संगठन के प्रदेशाध्यक्ष  राजकुमार पटेल ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात कर बताया कि मेंटरो के प्रति कोई आरोप तय नही होने के बाद जिस तरह से कार्य वाई की गई यह दुर्भाग्यपूर्ण हैं।साथ ही प्रदेश में अधायपन कार्य करा रहे मेंटरो का भुगतान अभी 47 लाख 88 हजार नौ बाकी हैं। उन्होंने ने बताया है कि इस व्यवस्था से करीब दो हजार मेंटर बेरोजगार हो गए।और उनके परिवार में रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया हैं।द्वेष पूर्वक कार्यवाही किये जाने से प्रदेश के मेंटरो में काफी आकोश भी देखा जा रहा हैं।  श्री पटेल ने बताया कि सीएम ने आश्वस्त किया है कि पूरे मामले की फिर से समीक्षा की जायेगी।वही बिरोध जताते हुए अनूपपुर जिला इकाई परामर्शदाता संग़ठन आगामी समय मे भोपाल में आंदोलन करने की भी रणनीति तय की हैं  परामर्शदाताओं के माध्यम से ही अध्ययन करगें नही तो हम जिले के समस्त छात्रों के साथ उग्र आंदोनल करने को मजबूर होंगे ।बैठक में उपस्थित मेंटरो में रोहणी वर्मन ,मोहनलाल पटेल,वर्षा रानी सिंह ,शारदा चौरसिया,सन्तराम नापित,दिलीप शर्मा ,नजीर खान,अन्य कई मेंटर उपस्थित रहें।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com