-->

Breaking News

बरगवां में लगातार हो रहे भ्रष्टाचार का जिम्मेदार कौन भ्रष्टाचारियों को फिर मिला मौका शौंचालय सडक नाली निर्माण चबूतरा फर्सनाद घोटाला ठंडे बस्ते में जिला प्रशासन कब देगा ध्यान

बरगवां में लगातार हो रहे भ्रष्टाचार का जिम्मेदार कौन भ्रष्टाचारियों को फिर मिला मौका

शौंचालय सडक नाली निर्माण चबूतरा फर्सनाद घोटाला ठंडे बस्ते में

जिला प्रशासन कब देगा ध्यान

अनूपपुर/प्रदीप मिश्रा - 8770089979

जिले के बडे ग्राम पंचायतों में सुमार बहुचर्चित ग्राम पंचायत बरगवां हर दिन एक नये घोटाले व षिकायत के रूप में जाना जाता है क्योंकि यहां पर बडे रकमों में बडी हेराफेरी की जाती है व शासन प्रषासन को चूना लगाने का काम किया जाता है बिगत वर्षो पूर्व शौंचालय घोटाला जो करोडों का घोटाला था उसमें कई जांच हुऐ व लेट हुऐ क्योंकि इसमें जिले से लेकर जनपद तक के अधिकारी शामिल थे करोडों के घोटाले पर पर्दा डालने का काम अधिकारियों ने बराबर किया नाम मात्र का तीन बार जांच होने पर 14 लाख 38 हजार की रिकवरी हुई व बडी देर से कार्यवाही हुई सरपंच सचिव निलंबित हुऐ तीन महिने का नया सरपंच बना जो कि घोटाले में संलिप्त सरपंच के न्यायालय से स्टे लेने के बाद हट गई निष्चित ही स्टे लेने के बाद कार्यवाही आगे होनी थी जो की रूक गई आज भी घोटाले के कारण ग्राम बरगवां शौंच मुक्त नही हो पाया है इस ओर जिला प्रषासन को जिला पंचायत अधिकारी को ध्यान देकर कार्यवाही करना चाहिए वहीं कई सडक निर्माणों में भी उपयंत्री पटेल की सांठ गांठ से गुणवत्ता को दरकिनार करते हुऐ बनाये गये है नाली निर्माण  में भी बराबर घोटाला हुआ है बाहरी मजदूरों को काम में लगाकर व गुणवत्ता का ख्याल न रखते हुऐ नाली का निर्माण किया गया विगत वर्षो पूर्व कई घरों में मावेषियों के लिए पक्का फर्सनाद का निर्माण किया जाना था जिसमें लाखों का घोटाला किया गया है चबूतरा निर्माण धर्म के नाम पर एक बडा लूट सामने आया है जहां 5 लाख के चबूतरा निर्माण जो कि बिना एनओसी के तैयार किया गया जिसमें लीपापोती कर धर्म के नाम पर लूट किया गया है जब धार्मिक स्थलों को नही छोडा गया इससे पता चलता है कि इनको भगवान का भी डर नही रहा बेधडक होकर दबंगई के दम पर नित एक नये घोटाले को अंजाम दे रहे है

फर्जी बिलों का बडा खेल

ग्राम पंचायत बरगवां में सामग्री के नाम पर लाखों करोडों का खेल हुआ है यहां फर्जी बिल तैयार कर शासन प्रषासन को गुमराह करते हुए पैसों का अहरण किया गया है भुगतान किया गया है यहां पर व्यय के नाम पर एक बडा घोटाला सामने है जिसमें मेन्टिनेन्स फोटोकापी व मजदूरी भुगतान का है पंचायत में पानी के नाम पर भी कई बार गुमराह करते हऐ भुगतान लिया दिया गया है जो कि जांच का विषय है कई फर्जी वेंडर न जिनके दूकान है न सप्लायर है फिर भी लम्बी रकम आहरित किये हुये है मटेरियल सप्लाई के नाम पर कई लोगो को मोहरा बनाकर करोडों का हेरफेर किया गया है जो कि जांच का विषय है

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com