-->

Breaking News

कैलाश विजयवर्गीय के पोहा-जलेबी वाले बयान भड़की स्वरा भास्कर, केन्द्र सरकार को भी घेरा | Indore News



इंदौर : NRC और CAA के विरोध में हुए आयोजन में मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर आईं बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पोहा जलेबी वाे बयान पर हमला किया। उन्होंने कहा कि, कैलाश इंदौर के एक सपूत हैं और वो खुद भी जो पोहा-जलेबी खाकर ही बड़े हुए हैं। लेकिन, अब वो खुद पोहा खाने वालों को बांग्लादेशी बता रहे हैं। अभिन्त्री ने सवाल करते हुए कहा कि, अंकल कौन सा नशा फूंक रहे हों? स्वरा भास्कर ने सभा के दौरान मंच से केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा।

आपको बता दें कि, बीते दिनों कैलाश विजयवर्गीय का एक बयान काफी सुर्खियों में रहा था, जिसमें उन्होंने बांग्लादेशियों की पहचान करने का तरीका बताया था। कैलाश ने उनके घर मिस्त्री का काम करने आए मजदूरों के बारे में बताते हुए कहा था कि, मजदूर दोपहर में लंच टाइम में पोहा-जलेबी खा रहे थे, जिससे उन्हें शक हुआ था कि, वो बांग्लादेशी थे। भगत सिंह दीवाने बिग्रेड द्वारा आयोजित सभा में स्वरा ने केन्द्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि, एक तरफ तो सरकार देश के नागरिकों पर आंसू-गैस और लाठियां चला रहे हैं और वहीं, पाकिस्तान के अदनान सामी को नागरिकता तो दे ही चुके हैं, अब पद्मश्री भी देंगे। सीएए, एनआरसी और एनपीआर पर बोलते हुए स्वरा ने कहा कि, सीएए के हाथ-पैर, नाखून और पंजे तो एनआरसी और एनपीआर हैं। ये ना सिर्फ मुसलमान के लिए नुकसान दे है, बल्कि देश के हिन्दू भी इसकी चपेट में आएंगे।

सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में आयोजित सभा में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और उनकी पत्नी अमृता सिंह समेत कई दिग्गज नेता और समाज सेवी शामिल हुए। अपने भाषण के दौरान दिग्विजय सिंह ने कहा कि, मैं ये स्पष्ट कर दूं कि, मैं यहां कांग्रेस पार्टी का नेता होने के नाते नहीं, बल्कि भगतसिंह ब्रिगेड के सदस्य के तौर पर यहां आया हूं। दिग्विजय ने नागरिकता कानून को काला कानून बताते हुए ये घोषणा कि, कि वो नागरिकता साबित करने के लिए किसी भी तरह का कागज नहीं दिखाएंगे। वहीं, सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर ने कहा कि, इस कानून के जरिये केन्द्रस सरकार देश को बांटने का प्रयास कर रही है, जिसे हम सफल नहीं होने देंगे।

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com