-->

Breaking News

मरीजो के इलाज में चिकित्सक कोरोना बचाव नियमो का पालन करें- कलेक्टर प्रायवेट नर्सिंग होम एवं क्लिनिक संचालकों की बैठक सम्पन्न

मरीजो के इलाज में चिकित्सक कोरोना बचाव नियमो का पालन करें- कलेक्टर

प्रायवेट नर्सिंग होम एवं क्लिनिक संचालकों की बैठक सम्पन्न

शहडोल / प्रदीप मिश्रा - 8770089979

जिले में कोरोना वायरस (कोविड़-19) के रोकथाम के संबंध में  आज कलेक्टर कार्यालय के सभागार मंे कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डाॅ. सतेन्द्र सिंह की अगुवाई में जिले के प्रायवेट नर्सिंग होम एवं क्लीनिक संचालको की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक मंे अपर कलेक्टर श्री अषोक ओहरी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 ओ0पी0 चैधरी, सिविल सर्जन डाॅ. व्ही.एस. वारिया, पूर्व सिविल सर्जन डाॅ. एस.सी. त्रिपाठी, डॅा. पी. थारवानी, डाॅ. एस थारवानी, डाॅ. सम्पूर्णानंद दुबे, डाॅ. सत्तेष विषनदषानी, डॅा. साकेत सराफ, डाॅ. दीपक पाल, डॅा. पवन मूदड़ा, डीसीएम श्री रामगोपाल गुप्ता सहित जिले के अन्य प्रायवेट नर्सिंग होमो एवं क्लिनिको के संचालक उपस्थित थे    बैठक मंे कलेक्टर ने कहा कि प्रायवेट क्लीनिक एवं नर्सिंग होम मंे किसी प्रकार की वंदिष नही है, आवष्यकता इस बात की है कि संचालक कोरोना वायरस रोकथाम के संबंध मंे आवष्यक नियमों का पालन करते हुए सोषल डिस्टंेसिंग, मास्क, सेनेटायजर का उपयोग खुद करते हुए मरीजो को भी इस हेतु समझाइस भी देंवे तथा संभावित कोरोना मरीजो की जानकारी पृथक से भी दें। कलेक्टर ने कहा कि लाॅक डाउन-2 मंें सुबह एवं शाम की सैर न किया जायें और अनावष्यक शहर का भ्रमण कोई भी न करंे। कलेक्टर ने बैठक मंे बताया कि जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण के संभावित मरीजो के लिए 100 विस्तरीय वेड़ों की व्यवस्था की गई है साथ ही जिले मंे 5 वैन्टिलेटर की भी व्यवस्था की गई है। जिले मंे कोरोना वायरस रोकथाम के संबंध मंे शासन स्तर पर सभी व्यवस्थाएॅ सुनिष्चित कर ली गई है। चिकित्सको के सहयोग से विष्वास है कि जिले में कोरोना वायरस संक्रमण मंे हमारा जिला पूर्णतः सुरक्षित हो सकेगा। जिला चिकित्सालय में कोरोना वायरस (कोविड़-19) एम्बूलंेस व्यवस्था भी है। सभी प्रायबेट नर्सिंग होम के संचालक एवं क्लीनिक संचालक यदि कोई संभावित मरीज कोरोना संक्रमण से पाते है तो उसकी सूचना सिविल सर्जन को तत्काल दें, ताकि मरीज के लाने ले जाने की व्यवस्था हेतु एम्बूलेंस उपलब्ध कराई जा सकंे। कलेक्टर ने जिला आबकारी अधिकारी को निर्देष दिए कि प्रायवेट नर्सिंग होम एवं क्लिनिक संचालको के जरूरत के हिसाब से शासकीय दर पर सेनेटायजर उपलब्ध कराएॅ।   बैठक मंे कलेक्टर ने सभी संचालको से कहा कि जिले मंे कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए जो भी आवष्यक उपकरण या सुविधाएॅ आदि की जरूरत उपयोगी मानते है तो उसकी सूची सिविल सर्जन को उपलब्ध करावें, ताकि जिला चिकित्सालय मंे और व्यवस्थाएॅ सुनिष्चित की जा सकें। कलेक्टर ने बताया कि जिले मंे 3 एम्बूलेंष की व्यवस्था भी सुनिष्चित की जा रही है। जिसमंे एक एम्बूलंेष जिला चिकित्सालय, एक-एक बुढ़ार एवं ब्यौहारी अस्पताल मंे उपलब्ध करायी जा रही है।


No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com