-->

Breaking News

आदिवासी नेता व पूर्व विधायक स्व० मनमोहन शाह बट्टी की मौत की हो सीबीआई जांच- विश्वनाथ सिंह

 आदिवासी नेता व पूर्व विधायक स्व० मनमोहन शाह बट्टी की मौत की हो सीबीआई जांच- विश्वनाथ सिंह

अनूपपुर / प्रदीप मिश्रा - 8770089979

विश्वनाथ सिंह सदस्य जिला पंचायत अनूपपुर एवं जिला अध्यक्ष राजीव गांधी पंचायती राज संगठन जिला अनूपपुर ने महामहिम राज्यपाल के नाम द्वारा कलेक्टर अनूपपुर एक ज्ञापन के माध्यम से विगत दिनों स्वर्गीय मनमोहन शाह बट्टी पूर्व विधायक की संदेहास्पद मौत की प्रदेश की शिवराज सरकार से सीबीआई जांच करवाने की मांग किया है अमरवाड़ा से पूर्व विधायक एवं आदिवासी समाज के प्रखर नेता स्व मनमोहन शाह बट्टी जी का गत दिनों भोपाल के चिरायु अस्पताल में संदेहास्पद स्तिथियों में निधन हो गया,उनका निधन सम्पूर्ण आदिवासी समाज के लिए एक अपूर्णीय क्षति है। उनका भोपाल में असमय निधन जिन संदेहास्पद स्तिथियों में हुआ है वह प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार पर सवाल खड़ा कर रहा है। वे जिस अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती हुए उस अस्पताल ने उनके परिजनों को सूचना तक नहीं दी और तो और उनके निधन के बाद भाजपा की शिवराज सरकार उन्हें एम्बुलेंस तक न दिलवा सकी,यह जानकारी जैसे ही पूर्व मुख्यमंत्री माननीय कमलनाथ जी को लगी उन्होंने तत्काल अपने प्रयास से एक एम्बुलेंस की व्यवस्था करवाई और स्व श्री बट्टी का शव ले जाने हेतु व्यवस्था की लेकिन यहाँ भी शिवराज सरकार का राजनीतिक षडयंत्र चलता रहा। शव ले जाने के पहले ही शिवराज सरकार ने अपने प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों को भेजकर स्व श्री बट्टी का शव परिजनों से जबरन लेकर शवगृह में रखवा दिया और बिना किसी पोस्टमार्टम या जांच के भोपाल में ही श्री बट्टी का अंतिम संस्कार करने के लिए उनके परिजनों पर दबाब बनाया गया एवं बलपूर्वक भोपाल में ही उनका अंतिम संस्कार गैर आदिवासी रीति रिवाजों से करवा दिया। शिवराज सरकार का ये कृत्य एक राजनीतिक षड्यंत्र है और एक प्रखर आदिवासी नेता जिसका पूरे प्रदेश में एक मजबूत जनाधार था उनकी सन्देहास्पद मौत हत्या करवाने जैसा है। 
भाजपा ने आदिवासी समाज के प्रति अपनी घृणा एक बार फिर जग जाहिर की है और इस बार आदिवासी समाज के नेता की संदेहास्पद मृत्यु से उन्होंने आदिवासी समाज को अपना असली चेहरा दिखाया है। यदि आदिवासी नेता स्व मनमोहन शाह बट्टी जी की षड्यंत्र पूर्वक हत्या नहीं है तो प्रदेश की शिवराज  सरकार इसकी सीबीआई जांच करवाएं, जिससे उनकी मौत के पीछे का पूरा सच आम जनता के सामने आ सके। यदि प्रदेश की भाजपा सरकार सीबीआई जांच नहीं करवाती है तो इसका मतलब साफ होगा कि कहीं न कहीं हमारे दिवंगत आदिवासी नेता की इन्होंने राजनीतिक षड्यंत्र के चलते हत्या करवाई है

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com