-->

Breaking News

लाईन मैन संतोष रैकवार बीस साल से अनूपपुर में पदस्थ होकर कर रहा ठेकेदारी नवागत सहायक अभियंता को लगा सकता है साख पर बट्टा

लाईन मैन संतोष रैकवार बीस साल से अनूपपुर में पदस्थ होकर कर रहा ठेकेदारी

नवागत सहायक अभियंता को लगा सकता है साख पर बट्टा

प्रदीप मिश्रा-8770089979
अनूपपुर।शहडोल संभाग में सुर्खियों में चल रहे बिजली विभाग के सौभाग्य योजना घोटाले की जांच को ठंडे बस्ते में रखते हुए मुख्य अभियंता अग्रवाल जी रिटायरमेंट  के अंतिम दौर में अपने आप को पाक साफ साबित करने की पूरी कोशिश करते हुए अपने ही विभाग में बीस सालों से एक ही वितरण केंद्र अनूपपुर में जमे लाईन हेल्पर संतोष रैकवार के ऊपर भरपूर कृपा बना कर अपनी रिटायरमेंट लेने की पूरी तैयारी कर चुके है आपको बता दें कि संतोष रैकवार अपने गृह अनूपपुर वितरण केंद्र में बीस सालों से एक जगह पदस्त हो कर बिजली उपभोक्ताओं को साथ ही विभाग को भी ठेकेदार के साथ पार्टनर बन खूब चूना लगा रहा है जब कि नियम तो यह है कि किसी विभाग में एक स्थान पर किसी कर्मचारी या अधिकारी को अधिकतम तीन वर्ष तक ही पदस्थ होना अनिवार्य रूप से तय किया जाता है परन्तु यह तो  एक ही जगह लगभग बीस सालों से जम कर अपने क्षेत्र के गरीब किसान उपभोक्ताओं को कनेक्शन के नाम पर व पोल सिप्टिंग के नाम पर लूट रहा है हाल ही में एक मामला ग्राम सकरा में बिना स्टीमेट बनाये लगभग 75 से 80 हजार रुपये लेकर पोल व ट्रांसफार्मर शिप्टिंग का काम किया गया साथ ही ग्राम सकरा में ही  पी एच ई के पानी टंकी तैयार हो चुके लाईन सप्लाई चालू करने के नाम पर राजनगर के ठेकेदार से तीन परसेंट कमीशन पर काम लेकर नया पोल,तार व ट्रांसफार्मर लगा कर लाखों रुपए ठेकेदारी कर कमाई कर रहा है जानकार तो यह भी बताते है कि संतोष रैकवार अपने लड़के को भी अपने ही विभाग में ठेकेदार के लाइसेंस बनवा कर अनूपपुर वितरण केंद्र के अलावा दूसरे वितरण केंद्रों में लड़के के नाम से काम सेन्सन करवा कर धड़ल्ले से खुल कर ठेकेदारी करने में मशगूल है आलम यह है लाईन हेल्पर होने के बावजूद ये विभाग के किसी तरह कोई कार्य मे रुचि न रखते हुए पूरा दिन ठेकेदारों से तीन से चार परसेंट में लाइसेंस पर काम सेन्सन करा कर ठेकेदार बन कर विभाग को बीस सालों से कई लाख रुपये नुकसान पहुंचा रहा है निश्चित तौर पर हाल ही में आये नवागत साहयक अभियंता गुप्ता जी ठेकेदार संतोष रैकवार से दूरी नही बनाये रखें तो सहायक अभियंता के भी साख पर बट्टा लगना तय है आपको बताते चलें कि रैकवार ठेकेदार के द्वारा कुछ दिन पूर्व में कोरोना कोविड के लिए कैम्प में भी सबस्टेशन से पोल लगा कर लाइन सिप्टिंग में भी बिना स्टीमेट के हजारों रुपए के गोल माल किया गया इस तरह कई अनैतिक कार्य कर लाखों रुपये कमाई कर अपनी जेब भर कर विभाग के साथ साथ वर्तमान सरकार को भी बदनाम करने में कोई कसर नही छोड़ रहा निस्संदेह ही समय रहते इस तरह ठेकेदारी में लिप्त कर्मचारी के ऊपर कोई कार्यवाही नही की जाती तो क्षेत्र के गरीब किसान बिजली उपभोक्ताओं को हो रहे परेशानियों का खामियाजा आने वाले उपचुनाव में सत्ताधारी पार्टी को भुगतना पड़ सकता है|

No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com