-->

Breaking News

मोदी जी ने किसानों को दिये अधिकार, झूठ फैलाकर किसानों को भड़का रहे हैं विपक्षी दल | MP NEWS

 


केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान ने किसान सम्मेलन में कहा

इंदौर। हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने अंग्रेजों के समय के कानूनों को समाप्त कर दिया है, जो किसानों को बंधन में रखते थे। प्रधानमंत्री जी ने किसानों को अधिकार संपन्न बनाया है। लेकिन कांग्रेस और विपक्षी दल झूठ फैलाकर लोगों को भड़का रहे हैं। हर अच्छे काम का विरोध करना उनकी आदत बन गई है। यह बात बुधवार को किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान, राष्ट्रीय महासचिव श्री कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कही। सम्मेलन को प्रदेश की कैबिनेट मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, श्री प्रेमसिंह पटेल, प्रदेश महामंत्री सुश्री कविता पाटीदार, विधायक एवं वरिष्ठ नेता श्री तुलसीराम सिलावट ने भी संबोधित किया।

जब तक मोदी जी प्रधानमंत्री हैं, एमएसपी बंद नहीं होगीः धर्मेंद्र प्रधान
सम्मेलन को संबोधित करते हुए केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के चुनाव के समय कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने गंगाजी की कसम खा कर कहा था कि हम सरकार बनने के 10 दिन के अंदर ही किसानों का कर्ज माफ कर देंगे,  जो नहीं किया। अब कह रहे हैं कि एमएसपी बंद कर दिया जायेगा। ऐसी ही कई झूठी बातें बनाकर कांग्रेस और विपक्षी देश में लोगों को भड़काने का काम कर रहे हैं। जबकि पहले साढे सात हजार करोड़ एमएसपी किसानों को दिया जाता था अब पन्द्रह हजार करोड़ दिया जाता है। हमारे देश के कृषि मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने यह स्पष्ट किया है कि एमएसपी तब तक बंद नहीं होगा, जब तक देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी हैं और यह मैं लिखकर देने के लिये भी तैयार हूं। उन्होंने कहा कि कांन्ट्रेक्ट फार्मिंग को लेकर यह भ्रम फैलाया जा रहा है किसानों की जमीन व्यापारी खरीद लेगा, जबकि किसानों की एक इंच जमीन भी कोई नहीं ले सकता। यह तो केवल फसल को बेचने के लिये पहले से किये जाने वाला करार है। श्री प्रधान ने कहा कि अंग्रेजों के समय से चल रहे कानून में यह प्रावधान था कि किसान अपनी फसल बाहर नहीं बेच सकते, बिचौलियों के माध्यम से ही बेच सकते हैं। लेकिन मोदीजी ने नए कानून बनाकर किसानों को यह छूट दी है कि वह अपनी फसल कहीं भी बेच सकता है।

देश विरोधियों के साथ खड़े रहते हैं कांग्रेस और राहुल गांधीः कैलाश विजयवर्गीय
सम्मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि चाहे सीएए को विरोध करने वाली गेंग हो, या राम मंदिर का विरोध करने वाले लोग हों, सभी यह जानते हैं कि राहुल गांधी और उनकी कांग्रेस पार्टी इनके साथ खड़े रहते हैं। श्री विजयवर्गीय ने कहा कि अगर हम कपड़े खरीदने जाते है तो कपड़े वाला भाव तय करता है,  बर्तन का भाव बर्तन वाला, मोटरसाईकिल का भाव व्यापारी तय करते है तो किसानों की फसल का भाव किसान क्यों नहीं तय कर सकता? मोदीजी ने अंग्रेजों के समय से चले आ रहे इसी काले कानून को खत्म करके यह नये कृषि बिल बनाये हैं,  जिसके माध्यम से किसान अपनी फसल को मंडी में या मंडी के बाहर कहीं भी बेच सकता है। उन्होंने कहा कि देश में कुछ आंतरिक शत्रु हैं, जो हर अच्छे काम में विरोध करते है। हमें देश के अंदर के शत्रुओं से पार पाना होगा। श्री विजयवर्गीय ने कहा कि मोदी जी ने अपने कामों से जय जवान जय किसान के नारे को सार्थकता देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि ऐसे राष्ट्रवादी प्रधानमंत्री पर शक करने का विपक्षी दलों को कोई नैतिक हक नहीं है। श्री विजयवर्गीय ने कहा कि कृषि बिल के समर्थन में मध्यप्रदेश के किसान ट्रेक्टरों पर सवार होकर दिल्ली कूच करने के लिये तैयार हैं।  

हर आंदोलन से जुड़कर अराजकता फैलाने का काम करती है कांग्रेसः डॉ. नरोत्तम मिश्रा
प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि जो लोग कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं उन्हें यह स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वह कानून सही था जिसमें किसान कर्ज लेता था, कर्ज में जीता था और कर्ज में ही मर जाता था तथा विरासत में ही कर्ज छोड़कर चला जाता था।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा से ही भय और भ्रम की राजनीति की है। कांग्रेस हर उस आंदोलन में शामिल रही है, जो देश के विरोध में हो। कांग्रेस ने सीएए के विरोध में टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ मिलकर अराजकता का माहौल पैदा करने का प्रयास किया था। उस समय भी कांग्रेस ने यह भ्रम पैदा किया कि तीन पीढ़ियों के कागज मुस्लिमों से मांगे जाएंगे, नहीं तो उन्हें देश से बाहर कर दिया जाएगा। वही कांग्रेस अब किसानों को भ्रमित कर रही है और देश के वातावरण को खराब करने का काम कर रही है। डॉ. मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश का किसान समझदार है,  इसलिये उन्होंने किसान आंदोलन से दूरी बनाकर रखी है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश पहला ऐसा राज्य है, जिसने किसानों के हित में प्रदेश में कृषि केबिनेट बनाई और अलग से कृषि बजट का प्रावधान किया है।  इसके साथ ही जीरो प्रतिशत ब्याज पर किसानों को कृषि ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है।  

किसानों का जीवनस्तर उठाने को बनाए नए कृषि कानूनः नंदकुमारसिंह चौहान
सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नंदकुमारसिंह चौहान ने कहा कि किसानों का जीवन स्तर उठाने के लिये हमारे देश के यशस्वी प्रधानमंत्री कृषि सुधार कानून लाये हैं, जिनके समर्थन में आज हजारों किसान यहां आये हैं। देश की विपक्षी दल अपनी-अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने में लगे हुए हैं और मुट्ठीभर लोगों को इकट्ठा करके कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। लेकिन देश का किसान बहुत अच्छे से जानता है कि किसानों का भला केवल भाजपा ही कर सकती है। इसलिये सभी किसान प्रधानमंत्री के समर्थन में आज यहां इकट्ठे हुए हैं। श्री चौहान ने कहा कि जब से देश आजाद हुआ है तब से कांग्रेस ने कभी किसानों की सुध नहीं ली। जबकि हमारे प्रधानमंत्री मोदीजी ने मात्र 6 साल में किसानों की आय को डेढ़ गुना करके दिखाया है। किसानों के सम्मान के लिये मोदीजी ने किसान सम्मान निधि 6 हजार रूपये तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने 4 हजार रूपये जोड़कर कुल 10 हजार रूपये प्रतिवर्ष देने का फैसला लिया है। 7 करोड़ 93 लाख किसानों को फसल बीमा का लाभ मिला है। मोदीजी जो भी अच्छा काम करते है,  विरोधी उसके बारे में भ्रम पैदा करने का प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि कृषि कानून आने वाले समय में किसानों के लिये बहुत फायदेमंद साबित होंगे।  

इंदौर में मंत्री श्री विजय शाह, सुश्री उषा ठाकुर, श्री प्रेमसिंह पटेल, सांसद श्री शंकर लालवानी, श्री छतरसिंह दरबार, श्री गुमान सिंह डामोर, श्री गजेन्द्र पटेल, संगठन मंत्री श्री जयपाल सिंह चावड़ा, सुश्री कविता पाटीदार, श्रीमती मालिनी गौड़, श्री कृष्णमुरारी मोघे, श्रीमती नीना वर्मा, श्रीमती अर्चना चिटनीस, श्री सुदर्शन गुप्ता, श्री जीतू जिराती, श्री रमेश मेंदोला, श्री महेन्द्र हार्डिया, श्री आकाश विजयवर्गीय, श्री मधु वर्मा, श्री उमेश शर्मा, श्री सुमित्रा कास्डेकर, श्रीमती रंजना बघेल, श्री तुलसीराम सिलावट, श्री नारायण पटेल, श्री गौरव रणदीवे, श्री राजेश सोनकर, श्री मनोज पटेल मंचासीन थे। 





No comments

सोशल मीडिया पर सर्वाधिक लोकप्रियता प्राप्त करते हुए एमपी ऑनलाइन न्यूज़ मप्र का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला रीजनल हिन्दी न्यूज पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा मप्र के कई स्वतंत्र पत्रकार एवं जागरुक नागरिक भी एमपी ऑनलाइन न्यूज़ से सीधे जुड़े हुए हैं। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ एक ऐसा न्यूज पोर्टल है जो अपनी ही खबरों का खंडन भी आमंत्रित करता है एवं किसी भी विषय पर सभी पक्षों को सादर आमंत्रित करते हुए प्रमुखता के साथ प्रकाशित करता है। एमपी ऑनलाइन न्यूज़ की अपनी कोई समाचार नीति नहीं है। जो भी मप्र के हित में हो, प्रकाशन हेतु स्वीकार्य है। सूचनाएँ, समाचार, आरोप, प्रत्यारोप, लेख, विचार एवं हमारे संपादक से संपर्क करने के लिए कृपया मेल करें Email- editor@mponlinenews.com/ mponlinenews2013@gmail.com